रविवार 21 जून होगा सूर्यग्रहण, ऐसा दिखाई देगा

रविवार 21 जून होगा सूर्यग्रहण, ऐसा दिखाई देगा

इटारसी। यदि रविवार 21 जून को आसमान साफ रहा तो हम अपने जिले में सूर्यग्रहण का नजारा देख सकते हैं। ग्रहण के दौरान सूर्य की आकृति हंसिए के समान दिखाई देगी। मानसून की आहट और कोरोनाकाल में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर रविवार को रवि ग्रहण का सामना करेगा। वलयाकार सूर्यग्रहण या एन्यूलर सोलर इकलिप्स की खगोलीय घटना होने जा रही है जिसमें राजस्थान, हरियाणा उत्तराखंड के कुछ शहरों और ग्रामों में सूरज चमकते कंगन सा दिखेगा। होशंगाबाद जिले सहित भारत के बाकी राज्यों में आंशिक या पार्शियल सोलर इकलिप्स होगा जिसमें यहां सूर्य हंसियाकार दिखेगा।
एक्सीलेंस केसला के शिक्षक राजेश पाराशर ने बताया कि जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आकर तीनों एक सीधी रेखा में आ जाते हैं तो चंद्रमा की छाया पृथ्वी के जिस भाग पर पड़ती है तो कुछ अवधि के लिये वहां लोगों को सूर्य दिखना या तो बंद हो जाता है अथवा उसका कुछ भाग दिखता है। इसे सूर्यग्रहण कहा जाता है। तीनों पिंडों की स्थिति के आधार पर पूर्ण ग्रहण, वलयाकार ग्रहण, आंशिक ग्रहण और हाईब्रिड ग्रहण होते हैं।
सूर्यग्रहण की खगोलीय घटना के वैज्ञानिक पक्ष को समझाने राजेश पाराषर ने पोस्टर के माध्यम से ग्रहण के अनेक तथ्यों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एक कैलेंडर वर्ष में, कम से कम दो और अधिकतम पांच सूर्य ग्रहण हो सकते हैं। सूर्य और चंद्र ग्रहणों की कुल संख्या सात से अधिक नहीं हो सकती है। अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण होता है जबकि पूर्णिमा को चंद्रग्रहण होता है। पूर्ण सूर्यग्रहण की अवधि कुछ सैकंड से लेकर अधिकतम 7 मिनट 30 सेकंड तक होती है। पूर्ण सूर्यग्रहण की अधिकतम अवधि जुलाई माह में होती है। वलयाकार सूर्यग्रहण की अवधि कुछ सैकंड से लेकर अधिकतम 12 मिनट तक होती है। अधिकतम अवधि का वलयाकार ग्रहण आमतौर पर दिसंबर के महीने में होता है। हर अमावस्या या पूर्णिमा को ग्रहण नहीं दिखाई नहीं देने का कारण यह है कि चंद्रमा की कक्षा 5 डिग्री से आकाश में सूर्य के मार्ग पर झुकी हुई है। जिससे वे हर बार एक सरल रेखा में नहीं आ पाते हैं।

CATEGORIES
TAGS

AUTHORRohit

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: