राखी का बाजार सजा, चाईना की राखियां गायब

इटारसी। भाई बहन के प्यार के प्रतीक रक्षाबंधन का दिन जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है बाजारों में राखी की दुकानें सजनी शुरू हो गई हैं। इस बार दुकानों में दो रुपये से लेकर दो सौ रुपये तक की राखियां बाजार में मौजूद हैं। एक बड़ा बदलाव राखी के बाजार में यह देखने को मिल रहा है कि बाजार से चाइना की राखियां गायब हैं। राखी का बाजार जयस्तंभ चौक से तुलसी चौक तक लगा है।
रक्षाबंधन के दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधकर जहां एक ओर उनके दीर्घायु की कामना करतीं है वहीं भाई जीवन भर उनकी रक्षा का वचन देता है। 15 अगस्त को रक्षाबंधन पर्व को देखते हुए अभी से ही बाजार में राखी की दुकानें सज गई हैं। दुकानों पर डोरी राखी के अलावा बच्चों के पसंद की कार्टून राखी, डोरमेन, मोतियों की राखी, छोटा भीम, लाइटिंग वाली डिजीटल राखियां आदि बिक रही हैं। जिनके दाम डेढ़ रुपये से लेकर दो सौ रुपये तक हैं। इसके अलावा सोने और चांदी की राखियां भी सराफा बाजार में मिलेंगी जिनकी कीमत सैंकडों से हजारों में है। राखी के स्टालों पर बहनों को इस रक्षाबंधन पर डोरी वाली राखी खूब पसंद आ रही है। राखी खरीद बेचने वाले भूपेन्द्र चौकसे ने बताया कि इस बार बाजार में राखियां काफी अच्छी और आकर्षक दामों में उपलब्ध हैं। खास बात यह है कि इस वर्ष राखियों के दाम में कोई बढ़ातरी नहीं की गई है। रूमाल की कीमतें भी दस से बीस रुपए है।
राखी बाजार में एक ओर दुकानदार हमीद खान ने बताया कि इस वर्ष खास यह है कि चाईना की राखियां बाजार से लापता हैं। पिछले कुछ वर्षों से चाइना की राखियां बाजार में पटी पड़ी रहती थीं, इस वर्ष यह दिखाई नहीं दे रही हैं। इटारसी बाजार में लगी राखी की दुकानों पर महिलाओं ने खरीदारी प्रारंभ कर दी है और वे अपनी मनपसंद की राखियां दुकानों से खरीद रही हैं। युवतियां भी अपने भाई की कलाई पर बांधने के लिए जिस विशेष नाम के रक्षासूत्र की तलाश कर रही है वह मिल ही नहीं रही है। एक युवती ने कहा कि उसे आर्टिकल 370 वाली राखी की तलाश है। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह के नामी राखियां भी युवतियां तलाश कर रही हैं। बैंगलोर में अध्ययरत एक युवती ने बताया कि वह यहां हर वर्ष राखी मनाने अपने घर आती हैं, इस वर्ष वहां से राखियां नहीं लायी है, यहां मनपसंद की राखियां तलाश कर रही है जो मिल नहीं रही है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW