राम जी की निकली बारात, नगर बना बाराती

इटारसी। नगर पालिका परिषद के तत्वावधान में श्री द्वारिकाधीश मंदिर में चल रहे श्रीरामलीला दशहरा उत्सव के अंतर्गत गुरुवार की शाम को मंदिर परिसर से श्री राम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न की बारात निकाली गयी। श्री द्वारिकाधीश मंदिर में शहर के व्यापारियों ने भगवान की पूजा-पाठ करके बारात को रवाना किया।
श्री रामलीला महोत्सव के अंतर्गत गुरुवार की शाम को निकली श्रीराम बारात में शहर के सैंकड़ों नागरिक बाराती बने। विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा, नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष श्रीमती सुधा अग्रवाल, मुख्य नगर पालिका अधिकारी हरिओम वर्मा, विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल, सभापति जसबीर सिंघ छाबड़ा, संचालक गोविन्द श्रीवास्तव, राकेश जाधव, नगर भाजपा अध्यक्ष डॉ. नीरज जैन, पंकज चौरे, ऋषि दुबे, सौरभ मेहरा, भाजयुमो नगर अध्यक्ष राहुल चौरे, सजल अग्रवाल, पार्षद गुड्डू गुप्ता, गीता पटेल, देवेन्द्र पटेल, सहित अन्य पार्षद और सभापति और नगर पालिका के अधिकारी-कर्मचारी भी बारात में शामिल हुए।

द्वारिकाधीश मंदिर से निकाली गई बारात फल बाजार, आठवी लाइन, सराफा बाजार, नीमवाड़ा, जयस्तंभ चौक होकर वापस मंदिर परिसर में पहुंची। बारात में युवाओं ने जमकर नृत्य भी किया।
श्री द्वारिकाधीश बड़ा मंदिर से भगवान श्रीराम की बारात निकली और मंदिर परिसर में ही रामलीला के मंच पर भगवान का माता सीता के साथ विवाह संपन्न हुआ। इस अवसर पर नगर पालिका के सभी अधिकारी और कर्मचारी, श्रीरामलीला आयोजन समिति पुरानी इटारसी के सदस्य और वृंदावन के अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त श्री बालकृष्ण लीला संस्थान के संचालक श्यामसुंदर शर्मा सहित मंडल के सदस्य भी शामिल हुए। रामजी की निकली सवारी और अन्य धार्मिक गीतों, ढोल और बैंड के साथ बारात पुराने फल बाजार से होकर आठवी लाइन, सराफा बाजार, नीमवाड़ा, जयस्तंभ चौक होकर वापस मंदिर परिसर में संपन्न हुई। बारात में घोड़े, नृत्य मंडली के अलावा युवाओं की टोली भी नृत्य करते हुए चल रही थी। बारात में जमकर आतिशबाजी भी की गई। जगह-जगह बारात का स्वागत किया गया।
बारात में श्रीराम, लक्ष्मण के साथ मुनि विश्वामित्र, भरत, शत्रुघ्न को रथ पर बिठाया था। बड़े मंदिर से लेकर वापस मंदिर तक सैंकड़ों बाराती साथ चले। ढोल और बैंड की धुन पर युवाओं ने जमकर नृत्य किया। जमकर आतिशबाजी भी की गई। मंदिर परिसर में जब बारात वापस पहुंची तो बारात की अगवानी और बारातियों का स्वागत किया। श्रीराम जी का विवाह जगत जननी माता सीता के साथ संपन्न हुआ और यहां अनेक लोगों ने माता सीता के पांव पखारे।

साथ-साथ की गई सफाई
इस वर्ष बारात की खास बात यह थी कि नगर पालिका ने सफाई का भी विशेष ध्यान रखा। बारात के पीछे-पीछे जैसे ही कुछ अपशिष्ट पदार्थ कचरा संबंधी जो हुआ उसमें स्वच्छता प्रभारी आरके तिवारी के नेतृत्व में अमले ने सफाई पर विशेष ध्यान दिया और उसे उठा कर तुरंत गाडिय़ों में डाला। इस कार्य की मॉनिटरिंग कमलकांत और जगदीश पटेल ने की। श्री द्वारिकाधीश मंदिर परिसर में रामलीला मंच पर शहर के नागरिक अनिल जैन और उनकी पत्नी ने राजा जनक और रानी सुनयना का किरदार निभाया और माता सीता का कन्यादान लिया। इस अवसर पर श्रीराम लीला में शामिल हुए अनेक श्रद्धालुओं ने माता सीता की पांव पखरई भी की।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW