रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी देने वाला पकड़ाया

इटारसी। जीआरपी ने इटारसी रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी देने वाले आरोपी को 24 घंटे से कम समय में गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी मूलत जुन्नारदेव जिला छिंदवाड़ा का रहने वाला है और आमला में एक भोजनालय में कर्मचारी है। वह 28 अक्टूबर को नर्मदा स्नान करने होशंगाबाद आया था और लौटते वक्त नशे की हालत में रेलवे कंट्रोल रूम के नंबर 182 पर इटारसी रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी दे डाली। रेलवे कंट्रोल रूम से सूचना जीआरपी कंट्रोल रूम आयी और वहां से निर्देश मिलने पर इटारसी जीआरपी हरकत में आयी। आरोपी को आज मंगलवार की शाम 4: 30 बजे आमला से गिरफ्तार कर लिया है।
जीआरपी एएसआई श्री लाल पडरिया ने बताया कि कल शाम को 7:30 बजे रेलवे कंट्रोल रूम के नंबर 182 पर धमकी दी गई थी कि इटारसी रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने वाला हूं। सूचना के बाद धमकी देने वाले आरोपी का मोबाइल नंबर 7804865298 को ट्रेस किया गया तो यह आमला का निकला। जब जीआरपी की टीम आमला पहुंची तो भोजनालय के संचालक मनोहर यादव ने बताया कि यह नंबर उसके यहां काम करने वाले कर्मचारी चंबरदोस दुबे उर्फ दादा भाई उर्फ डॉक्टर पिता नारायण दुबे, उम्र 63 वर्ष का है। आरोपी मूलत: वेलफेयर कॉलोनी जुन्नारदेव, जिला छिंदवाड़ा का रहने वाला है। उक्त सूचना के बाद आरोपी को गिरफ्तार किया गया। उसने अपना अपराध भी कबूल कर लिया है। जीआरपी ने उससे वह मोबाइल भी जब्त कर लिया जिससे उसने रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी दी थी।
इनका कहना है…
कल आमला के एक होटल में काम करने वाले कर्मचारी ने रेलवे कंट्रोल रूम को फोन करके इटारसी रेलवे स्टेशन उड़ाने की धमकी दी थी। आरोपी के मोबाइल नंबर के आधार पर खोज की गई और उसे आज शाम आमला से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह सोमवार को नर्मदा स्नान करने आया था और लौटते वक्त नशे की हालत में उसने रेलवे कंट्रोल रूम को धमकी भरा फोन किया था।
बीएस चौहान, थाना प्रभारी जीआरपी इटारसी

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: