रेलवे स्टेशन पर बिना स्पर्श किये हो रही यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग

रेलवे स्टेशन पर बिना स्पर्श किये हो रही यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग

बिना मास्क लगाये घुसे तो बजेगा अलार्म, टेम्प्रेचर बढ़ा तो रोकना होगी यात्रा

इटारसी। अब यात्रियों के तापमान मापने के लिए इंफ्रारेड थर्मोमीटर का स्थान कॉन्टेक्टलैस थर्मल स्क्रीनिंग कैमरा ने ले लिया है। इटारसी रेलवे स्टेशन पर जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम यात्रियों से बिना संपर्क किये उनकी स्क्रीनिंग कर रही है। ये टीम तीन शिफ्ट में लगातार काम कर रही है। इस कैमरे के सामने से निकलने वाले यात्रियों का तापमान वहीं कम्प्यूटर में दर्ज हो रहा है।
कोरोना वायरस के संक्रमण की निगरानी रखने एवं यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे जंक्शन के मुसाफिरखाने में कॉन्टेक्टलैस थर्मल इमेजिंग कैमरा स्थापित किया है जिससे यात्रियों से बिना संपर्क किये हुए उनकी स्क्रीनिंग की जा रही है। यह कैमरा मास्क नहीं लगाने वाले यात्रियों की भी पहचान कर लेता है।

इस तरह से हो रही स्क्रीनिंग
रेलवे स्टेशन पर आने के समय प्रवेश द्वार पर यात्रियों को एक निश्चित स्थान पर खड़े होकर कॉन्टेक्टलेस थर्मल इमेजिंग कैमरा के सामने से गुजरना पड़ता है। जैसे ही यात्री इस कैमरे के सामने खड़े होकर गुजरता है, उसकी इमेज तुरंत मॉनीटर पर आ जाती है। यदि यात्री ने मास्क नहीं पहना है तो यह अलार्म बजाकर सूचना देती है, जिससे डयूटी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मी को तुरंत मॉनीटर पर सूचना प्राप्त हो जाती है कि यात्री ने मास्क नहीं पहना है। साथ ही यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग भी हो जाती है, जिससे यात्री का तापमान मालूम पड़ जाता है। यदि यात्री का तापमान सामान्य प्राप्त होता है तो उसे यात्रा करने हेतु प्रवेश दिया जाता है, तापमान अधिक होता है तो उसे यात्रा करने से रोक लिया जाता है।


अतिरिक्त जांच भी होती है
रेलवे ने बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यह तकनीक अपनायी है। इसका लाभ यह है कि आप कैमरे के सामने खड़े होकर टीवी स्क्रीन पर अपना तापमान देख सकते हैं। यह थर्मल स्क्रीनिंग का आसान और बेहतर तरीका है। व्यक्ति के शरीर का तापमान 99 से ऊपर होता है तो कम्प्यूटर स्क्रीन पर उसके चित्र के आसपास लाल घेरा बनकर कम्प्यूटर इसे इंडीकेट कर देता है। इसके बाद उस यात्री को दो-तीन बार इस प्रक्रिया से गुजारा जाता है। यदि एक बार के बाद तापमान सामान्य आता है तो उसे आगे यात्रा की अनुमति दी जा सकती है, अन्यथा यात्रा रोकनी पड़ती है। इस कैमरे के सामने से यात्री और रेलवे स्टेशन पर ड्यूटी करने वाले रेलकर्मी और वेंडर भी इसी प्रक्रिया से गुजरते हंै।

अलग-अलग संख्या भी बताता
यदि यात्री ने मास्क नहीं पहना है तो भी यह कैमरा स्क्रीन पर जानकारी दे देगा कि यात्री ने मास्क नहीं पहना है। इस कैमरे के सामने जितने भी यात्री, रेलकर्मी या वेंडर के अलावा जो भी गुजरते हैं, सबकी संख्या भी इसमें दर्ज होती है। इसके अलावा बिना मास्क के कितने लोग कैमरे के सामने से गुजरे, कितने लोग सामान्य से अधिक तापमान वाले गुजरे और कुल कितने लोग इसके सामने से गुजरे, सबकी संख्या भी इसमें दर्ज होती है। इटारसी रेलवे स्टेशन पर इस सिस्टम में एक कमी भी है। यहां केवल प्रतीक्षालय में यह कैमरा लगा है, जबकि पुरानी इटारसी, सीपीई, बारह बंगला या शहर के दक्षिणी हिस्से से लोग सीधे रेलवे स्टेशन में प्रवेश करते हैं, उनकी स्क्रीनिंग नहीं हो पाती है।

यहां भी लगाए आधुनिक कैमरे
बीना स्टेशन – यहां भी प्लेटफार्म-1 की तरफ कॉन्टेक्ट लेस थर्मल इमेजिन कैमरे लगाए हैं, जो काम करने लगे हैं।
डीआरएम कार्यालय – हबीबगंज नाके के पास स्थिति इस कार्यालय के मुख्य गेट पर इस तरह के कैमरे लगाए गए हैं, जो काम करने लगे हैं।
भोपाल रेलवे स्टेशन – भोपाल स्टेशन के प्लेटफार्म-1 व 6 पर आधुनिक कैमरे लगा दिए हैं।

इनका कहना है…!
भोपाल और इटारसी रेलवे स्टेशन पर कॉन्टेक्टलैस थर्मल इमेजिंग कैमरे लगाये हैं। रेलवे स्टेशन पर आने के समय प्रवेशद्वार पर यात्रियों को एक निश्चित स्थान पर लगे इस कैमरे के सामने से गुजरना होगा। यदि यात्री ने मास्क नहीं लगाया तो भी यह कैमरा इंडीकेट करेगा और तापमान अधिक होने पर भी। अधिक तापमान होने पर यात्री को आगे की यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी।
आईए सिद्दीकी, पीआरओ

CATEGORIES
TAGS

AUTHORRohit

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: