रोड निर्माण में भ्रष्टाचार पर एफआईआर की मांग

इटारसी। रेलवे स्टेशन से ग्वालबाबा तक रेलवे द्वारा बनायी गई रोड में भ्रष्टाचार की जांच करने पुलिस स्टेशन में पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता मंगेश यादव ने एक आवेदन दिया है। आवेदन में कहा है कि रोड निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच कर दोषियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की जाए।
सामाजिक कार्यकर्ता एवं पत्रकार मंगेश यादव ने पुलिस को दिये आवेदन में कहा है कि करीब चार माह पूर्व राज टाकीज से ठंडी पुलिया के आगे तक सीमेंट की रोड बनायी गई थी। उसकी गुणवत्ता खराब होने से वह जगह-जगह से खराब हो गयी। शिकायत होने पर आनन-फानन में उस पर डामरीकरण करके भ्रष्टाचार छिपाने का प्रयास किया गया है। इस दौरान पूर्ण रूप से यातायात बंद कर दिया गया था। प्रारंभ से ही इस रोड में गड़बड़ी की गई जिसके कारण बनने के पूर्व ही जगह-जगह से उखडऩे लगी थी। वरिष्ठ अधिकारियों को कई लोगों ने सूचित किया लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। इन लोगों ने अजीत कुमार रघुवंशी एडीआरएम इन्फ्रा भोपाल, संजीव कुमार सीनियर डिवीजन इंजीनियर भोपाल, मतीन खान, वरिष्ठ सहायक मंडल अभियंता, एडीईएन असिस्टेंट डिवीजनल इंजीनियर बारह बंगला तथा सीनियर सेक्शन इंजीनियर आईओडब्ल्यू, एमके अग्रवाल को अवगत कराया था। इन व्यक्तियों ने शिकायत के बावजूद ठेकेदार के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की, ना ही निर्माण के समय प्रयुक्त सामग्री की कोई जांच की। ठेकेदार ने घटिया निर्माण सामग्री का प्रयोग करके ऐसी सड़क बनायी जो चार माह में ही उधड़ गई। आज भी रोड पर बड़े-बड़े गड्ढे हैं जिससे नयायार्ड के निवासी परेशान हैं। इसी रोड से सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल के बच्चे भी आना जाना करते हैं। इसके बावूजद लापरवाह अधिकारी ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने से परहेज कर रहे हैं। श्री यादव ने कहा कि सड़क की इस स्थिति के लिए ठेकेदार को पूर्णरूपेण जिम्मेदार ठहराते हुए कार्रवाई की जाए और संबंधित दोषी व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW