लापरवाह स्टाफ को दी सुधर जाने की नसीहत

सरकारी अस्पताल के तीसरे विजिट पर आए कलेक्टर
इटारसी। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने शनिवार को दोपहर बाद डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय अस्पताल का निरीक्षण किया। उनका यह इस अस्पताल का तीसरा विजिट था और वे देखने आए थे कि पूर्व की अपेक्षा यहां व्यवस्थाओं में कितन बदलाव आया है। कलेक्टर ने मीडिया को बताया कि पहले की अपेक्षा यहां बदलाव है। उन्होंने मीडिया से ही पूछा कि पहले की अपेक्षा बदलाव दिख रहा है या नहीं? उन्होंने कहा कि वे अभी भी संतुष्ट नहीं हैं और पूरी तरह से सुधार होने तक लगातार निरीक्षण करने आएंगे। उन्होंने यहां के लापरवाह कर्मचारियों को कहा कि वे अपनी कार्यप्रणाली बदल लें, अन्यथा उनकी सेवाएं समाप्त करने की कार्यवाही भी की जा सकती है।
शनिवार को इटारसी पहुंचे कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने सबसे पहले सरकारी अस्पताल का निरीक्षण किया। यहां रोगी कल्याण समिति कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने के बाद उन्होंने वार्डों का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। अपने निरीक्षण की शुरूआत कलेक्टर ने अस्पताल भवन के ऊपरी तल पर चल रहे निर्माण कार्य से की। इस दौरान उन्होंने वार्ड में एग्जास्ट फैन लगवाने के साथ ही आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने महिला वार्ड का निरीक्षण किया। मेल सर्जिकल वार्ड में मरीजों के लिए रखे गंदे तकिए को देख उन्होंने वार्ड प्रभारी को बुलाकर फटकार लगाई। कलेक्टर का तर्क था कि वे तीसरी बार आये हैं। लेकिन आप अभी तक अपनी आदतों में सुधार नहीं ला सके। उन्होंने वार्ड प्रभारी को तत्काल तकिए बदलने के निर्देश दिए। वार्ड प्रभारी का कहना था कि हमारे पास स्टोर की चाबी नहीं है इसलिए तकिए बदलने में दिक्कतें आ रही है। इस अव्यवस्था को देख कलेक्टर ने अस्पताल निरीक्षक को नर्सों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए। मेडिकल वार्ड में निरीक्षण करते वक्त डीएम की नजर मरीजों के पास रखे डस्टबिन पर पडी, डस्टबिन में कचरे का अंबार देख उन्होंने तत्काल वार्ड बॉय को बुलाकर सफाई करने के निर्देश दिए। वार्ड बॉय को नशे की हालत में देख वहां मौजूद एसडीएम हरेन्द्र नारायण का पारा चढ़ गया और उन्होंने तत्काल उक्त वार्ड बॉय का मेडिकल कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इस दौरान अधिकारियों ने वार्ड में मौजूद कुछ मरीजों से भी चर्चा की। प्रायवेट वार्डों के निरीक्षण के दौरान कमरे में रखी पुरानी बेंच को देख उन्होंने तत्काल उसे हटाने को कहा। इस दौरान प्रभारी सीएमएचओ डॉ. नलिनी गौर, अस्पताल अधीक्षक डॉ. एके शिवानी, रोगी कल्याण समिति में विधायक प्रतिनिधि भरत वर्मा, पीडब्ल्यूडी के एसडीओ एके महालहा भी मौजूद थे।
अस्पताल को बेहतर बनाने का संकल्प
अस्पताल में आने वाले मरीजों को किसी प्रकार से परेशानी न हो इसके लिए हम प्रयासरत है। अभी अस्पताल में बहुत कुछ काम कराना बाकी है। आने वाले समय में अस्पताल एक नये स्वरूप में मिलेगा। यह बात कलेक्टर शीलेन्द्र सिहं ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही। अस्पताल में आए बदलाव को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं तीसरी बार अस्पताल का निरीक्षण करने आया हूं। शुरूआती दौर से अभी तक काफी बदलाव आए हैं आने वाले समय में अस्पताल की व्यवस्थाएं और बेहतर होगी। कर्मचारियों के यूनिफॉर्म नहीं पहनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह गलत है, सभी को नियमों का पालन करना चाहिए। जो कर्मचारी नियमों की अनदेखी करता है उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW