वितरण की सघन और नियमित निगरानी करें – अध्यक्ष खाद्य आयोग

किया आंगनबाड़ी केन्द्र तथा स्कूलों का निरीक्षण

किया आंगनबाड़ी केन्द्र तथा स्कूलों का निरीक्षण
होशंगाबाद। मध्यप्रदेश राज्य खाद्य आयोग के 6 सदस्यी दल द्वारा होशंगाबाद जिले का भ्रमण कर खाद्यान्न वितरण तथा पोषण आहार वितरण की समीक्षा की गई। जिला पंचायत सभागार में आयोजित बैठक में आयोग के अध्यक्ष श्री राजकिशोर स्वाई तथा सदस्यों ने खाद्यान्न वितरण की बिन्दुवार समीक्षा की। बैठक की अध्यक्षता करते हुए अध्यक्ष श्री स्वाई ने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली से खाद्यान्न वितरण तथा आंगनबाड़ी केन्द्रों से पोषण आहार वितरण सीधे गरीबों के कल्याण से जुड़े हुए हैं। इनके माध्यम से गरीबों को भोजन तथा उनके बच्चों को उचित पोषण की व्यवस्था हो रही है। कमिश्नर, कलेक्टर तथा अन्य अधिकारी खाद्यान्न वितरण की सघन और नियमित निगरानी करें। इसे अपनी प्राथमिकताओं में शामिल करें। मध्यान्ह भोजन के संबंध में निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के अनुसार मध्यान्ह भोजन का वितरण सुनिश्चित करें। किसी विद्यार्थी को यदि 3 दिवस तक मध्यान्ह भोजन प्राप्त नहीं होता है तो इसके लिए उत्तरदायी अधिकारी, कर्मचारी पर जुर्माना लगाया जाएगा। भोजन की अनुमानित राशि का ड़ेढ गुना जुर्माना होगा।
बैठक में श्री स्वाई ने कहा कि मध्यान्ह भोजन तथा पोषण आहार के लिए समय पर खाद्यान्न आवंटित कर इसे नियमित रूप से स्वसहायता समूह को उपलब्ध करायें। इसमें देरी करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाए। हर पात्र गरीब को खाद्य सुरक्षा योजना से लाभान्वित करना सुनिश्चित करें। अधिकारियों द्वारा नियमित निगरानी से ही यह संभव हो पायेगा। शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पात्र गरीबों को खाद्यान्न पर्ची जारी की गई हैं। किंतु अधिकतम सीमा पूरी हो जाने के कारण इन्हें खाद्यान्न नहीं मिल रहा है। अभियान चलाकर अपात्र व्यक्तियों के नाम बीपीएल सूची से हटायें। इसके लिए कलेक्टर ग्राम सभाओं में अपील करें। यदि कोई अपात्र गरीबों की योजनाओं का लाभ अवैध तरीके से ले रहा है तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही भी करें। अपात्रों के नाम कटने पर ही पात्र गरीबों को खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ मिलेगा।
बैठक में श्री स्वाई ने कहा कि जिन राशन कार्ड धारियों ने 6 माह से उचित मूल्य दुकान से खाद्यान्न नहीं लिया है उनका सत्यापन करें। इसी तरह एक सदस्य वाले अन्तोदय राशन कार्ड धारी का भी एक माह में सत्यापन करें। सत्यापन के बाद उचित कार्यवाही करें। उचित मूल्य दुकानों तथा आंगनबाडी केन्द्रों के निरीक्षण की स्थिति संतोषजनक नहीं है। सभी ग्राम पंचायतों में उचित मूल्य दुकान खोलने की कार्यवाही समय सीमा में पूरी करें। एक सेल्समैेन को केवल एक ही दुकान की जिम्मेदारी दें। उन्होंने पोषण आहार वितरण की समीक्षा करते हुए कहा कि कम वजन के बच्चों को अतिरिक्त पूरक पोषण आहार दें। जो बच्चे आंगनबाड़ी में आने के पात्र हैं कितु निजी स्कूलों में दर्ज होने के कारण पोषण आहार से वंचित हैं उन्हें भी पोषण आहार उपलब्ध करायें। नर्मदापुरम् संभाग में अटल बाल पालक योजना के तहत बच्चों का कुपोषण मिटाने के लिए सराहनीय कार्य किया जा रहा है। इसमें जनप्रतिनिधियों की भूमिका भी सराहनीय है। बैठक में सेल्समैनों की भर्ती, उचित मूल्य दुकान के लिए आवंटित खाद्यान्न के परिवहन, पीओएस मशीन से खाद्यान्न वितरण की कठिनाईयां तथा मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता के संबंध में चर्चा की गई। मध्यान्ह भोजन का वितरण संतोषजनक पाया गया। बैठक में हितग्राहियों की आधार सीडिंग, शिकायतों के निराकरण, निगरानी समितियों के गठन तथा बैठक आयोजित करने, रसोईये के मानदेय वितरण तथा पोषण आहार परिवहन पर भी चर्चा की गई।
बैठक में नर्मदापुरम् संभाग के कमिश्नर श्री उमाकांत उमराव ने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली तथा आंगनबाड़ी केन्द्रों से पोषण आहार वितरण की व्यवस्था को अधिक कारगर बनाया जायेगा। इसमें लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर कठोर कार्यवाही की जायेगी। बैठक में आयोग के सदस्यगण श्री किशोर खण्डेलवाल, श्री गोरेलाल अहिरवार, श्री वीरसिंह चौहान, श्रीमती दुर्गा डाबर, कलेक्टर होशंगाबाद श्री अविनाश लवानिया, कलेक्टर हरदा श्री अनय द्विवेदी, कलेक्टर बैतूल श्री शंशाक मिश्रा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, खाद्य विभाग के अधिकारी, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

किया आंगनबाड़ी केन्द्र तथा स्कूलों का निरीक्षण
राज्य खाद्य आयोग का 6 सदस्यीय दल आयोग के अध्यक्ष श्री राजकिशोर स्वाई के नेतृत्व में होशंगाबाद जिले का भ्रमण कर रहा है। दल ने तीन भागों में बटकर जिले की उचित मूल्य दुकानों आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा शालाओं का निरीक्षण किया। दल क्रमांक 2 के सदस्य श्री किशोर खण्डेलवाल एवं श्रीमती दुर्गा डाबर सदस्य राज्य खाद्य आयोग ने ग्राम रैसलपुर तथा ब्यावरा में आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा स्कूलों का निरीक्षण किया। दल ने पोषण आहार के वितरण, आंगनबाड़ी केन्द्र में बच्चों की उपस्थित, अटल बाल पालकों की गतिविधियां, स्कूलों में मध्यान्ह भोजन के वितरण तथा उचित मूल्य दुकानों से खाद्यान्न वितरण की जानकारी ली। दल के सदस्य श्री किशोर खण्डेलवाल ने आंगनबाड़ी केन्द्र रैसलपुर में अतिकम वजन की बालिका कुमारी कनक की लाक्षादि चंदनवला तेल से मालिश की।
दल के साथ रहे नोडल अधिकारी श्री संजय त्रिपाठी, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास ने बताया कि दल के सदस्यों ने मध्यान्ह भोजन तथा पोषण आहार वितरण पर संतोष व्यक्त किया। दल ने ग्राम ब्यावरा में बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन किया। दल ने आंगनबाडी प्रशिक्षण केन्द्र पवारखेड़ा का भी निरीक्षण किया। दल ने आंगनबाड़ी केन्द्र ब्यावरा में बच्चों की माताओं से आंगनबाड़ी केन्द्र से मिलने वाले पोषण आहार की जानकारी ली। निरीक्षण के समय जनपद अध्यक्ष श्रीमती संगीता सिंह सोलंकी तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW