शक्ति की उपासना का पर्व शुरु, भक्त पहुंचे मां के दरबार

शक्ति की उपासना का पर्व शुरु, भक्त पहुंचे मां के दरबार

इटारसी। शक्ति की उपासना का पर्व आज से प्रारंभ हो गया है। हिन्दु भक्तों ने आज से नौ दिनों तक चलने वाले पर्व के तहत मां की भक्ति में उपवास भी शुरु किए। शक्ति की भक्ति के इस पर्व पर अल सुबह भक्तों ने मंदिरों में पहुंचकर माता को जल से स्नान कराया, प्रसाद चढ़ाया और मंदिरों के द्वार पर बैठे गरीबों को दान भी किया।
चैत्र नवरात्रि 9 दिनों तक चलने वाला एक हिन्दू त्योहार है, जिसे भक्त पूरे जोश और उल्लास से मनाते हैं। आज से मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ लगना शुरु हुई है जो पांच अप्रैल तक चलेगी। भक्तों ने आज से व्रत उपवास शुरु किए जिसमें भक्त पूरे दिन भूखे रहकर मां की आराधना करते हैं। आज से शुरू हुआ यह त्योहार 5 अप्रैल को खत्म होगा। वसंत ऋतु में होने के कारण चैत्र नवरात्र को वसंत, वासंती या वासंतिक नवरात्र भी कहा जाता है। चैत्र नवरात्रि के अवसर पर आज से शहर और ग्रामीण
अंचलों में अनेक कार्यक्रम भी प्रारंभ हुए हैं। जहां श्री बूढ़ी माता मंदिर में अखंड ज्योति स्थापना हुई तो माता महाकाली दरबार में चौंसठ खप्पर ज्वारे स्थापित हुए।
माता की प्रतिमा स्थापित
श्री बम बाबा दरबार न्यास कालोनी में मां भगवती की प्रतिमा स्थापना की गई है। यहां नौ दिनों तक शतचंडी महायज्ञ चलेगा जिसमें हजारों भक्त पहुंचकर माता की पूजा-अर्चना और यज्ञ मंडप की परिक्रमा करेंगे। आज इस आयोजन के तहत कलश यात्रा निकाली गई जिसमें सैंकड़ों महिला-पुरुष शामिल हुए। इस दौरान माता की प्रतिमा को भी नगर भ्रमण कराया गया। दोपहर में यहां पंच देव पूजन, ब्राह्मण वरण, मंडप प्रवेश, दुर्गा पाठ रूद्राभिषेक, पीठ पूजन एवं माता जी की प्रतिमा स्थापना हुई। 30 मार्च से 4 अप्रैल तक प्रात: 9 से दोपहर 12 बजे तक देवपूजन, अभिषेक, दुर्गा पाठ एवं हवन। दोपहर बाद 3 से हवन पुन: प्रारंभ तथा 6 बजे से आरती और प्रसाद वितरण होगा। 5 अप्रैल को भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव श्रीराम नवमी का आयोजन होगा। इस दिन सुबह 9 से दोपहर 12 तक प्रभु श्रीराम का जन्म महोत्सव, आरती 3 बजे, शाम 5 बजे से 6 तक देवपूजन एवं पूर्णाहुति तथा शाम 7 बजे से ब्राह्मण, कन्याभोजन होगा। 6 अप्रैल को दोपहर 12:15 बजे से रात 12:15 बजे तक भंडारा चलेगा। 7 अप्रैल को शाम 5 बजे माता जी की प्रतिमा विसर्जन के लिए होशंगाबाद प्रस्थान होगा।
ग्राम सोनतलाई में शतचंडी महायज्ञ
it032917 (1)ग्राम सोनतलाई में चैत्र नवरात्रि के मौके पर श्री शतचंडी महायज्ञ के लिए आज कलशयात्रा नर्मदा तट बाबई नसीराबाद तक निकाली गयी जिसमें करीब 5 हजार से अधिक ग्रामीण शामिल हुए। शोभायात्रा का शुभारंभ यज्ञ शाला के समीप की सामूहिक पूजा अर्चना से हुआ। संयोजक राजीव दीवान के नेतृत्व में करीब दो हजार ग्रामीणों के अलावा आसपास गांव के भी तीन हजार से अधिक महिला पुरूष शामिल हुए। 51 ट्रैक्टर ट्राली, 21 चार पहिया वाहन, और 105 बाइक में श्रद्धालु नर्मदा जल लाने पहुंचे।
यहां 30 मार्च से श्री शतचंडी महायज्ञ एवं श्री राम चरित मानस प्रवचन होंगे। शोभा यात्रा का यह विशाल समूह तवानदी के अंदर से बने दुर्गम रास्ते से होते हुये ग्राम माना गांव, आंखमऊ बाबई पहुंची। जनपद पंचायत बाबई ने यात्रा संयोजक राजीव दीवान का स्वागत कर समस्त यात्रियों को जलपान कराया गया। शोभायात्रा नर्मदा तट  नसीराबाद पहुंची जहां आयोजन समिति ने भंडारा किया। मां नर्मदा का जल 101 तांबे के कलश में भरकर यात्रा वापस उसी रास्ते से ग्राम सोनतलाई पहुंची। आयोजन समिति ने समस्त नर्मदाचंलवासियों से इस धार्मिक अनुष्ठान में शामिल होने का अनुरोध किया है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW