शहर को मिलेगी नर्सिंग कॉलेज की सौगात

इटारसी। अब बड़े शहरों की तरह ही यहां नर्सिंग प्रशिक्षण मिल सकेगा। शासन की तरफ से यहां जनरल नर्स मिडवाइफरी (जीएनएम) कोर्स की सुविधा प्रदान की जा रही है। अगले छह माह में इटारसी अस्पताल में जीएनएम सेंटर की सुविधा प्रारंभ हो जाएगी। अब तक यहां एएनएम का कोर्स संचालित होता था।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जेएस अवास्या ने बताया कि शासन से जीएनएम सेंटर की स्वीकृति प्राप्त हो गयी है। इस सेंटर के लिए जो भी औपचारिकताएं की जाती हैं, अस्पताल की ओर से पूर्ण की जा चुकी हैं। अभी यहां प्रवेश लेने वाली लड़कियों के लिए आवास सुविधा संबंधी प्रस्ताव भी भेजा जा रहा है। प्राचार्य की नियुक्ति, आवास, भोजन जैसी सुविधाएं जुटाने में करीब छह माह का वक्त लग सकता है। यह जिले का एकमात्र सेंटर होगा जहां जनरल नर्सिंग कोर्स कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह नर्सिंग कालेज होगा जो साठ सीटर होगा।
यह होगा फायदा
जीएनएम सेंटर प्रारंभ हो जाने से अस्पताल में नर्सों की कमी से निजात मिलेगी क्योंकि यहां प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली नर्सें बतौर प्रेक्टिकल अस्पताल में सेवा भी देंगी। जो इस प्रशिक्षण को पाने की इच्छुक हैं, उनको महंगे प्रायवेट कालेजों में जाकर प्रशिक्षण लेने से मुक्ति मिलेगी और यहां निजी कालेजों से बेहतर सुविधा मिल सकेगी। अब तक यहां एएनएम कोर्स की सुविधा थी जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों, विशेषकर बच्चों, माताओं और वृद्ध व्यक्तियों के स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं की देखभाल कैसे करें आदि का प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। जनरल नर्स मिडवाइफरी (जीएनएम) कोर्स साढ़े तीन साल का होता है। जीएनएम को जनरल नर्सिंग और मिडवाइफरी कहा जाता है जो सामान्य स्वास्थ्य देखभाल, नर्सिंग और दाई का काम में नर्सों की शिक्षा से संबंधित है। जीएनएम नर्सिंग कार्यक्रम में सामान्य नर्सों को तैयार करना है जो स्वास्थ्य टीम के सदस्यों के रूप में कार्य करते हैं।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: