शहीद दिवस : क्रांतिकारियों को याद किया, भाजपा को भी कोसा

इटारसी। हिन्दुस्तान की आजादी में अपना सर्वस्व न्यौछावर कर बलिदान होने वाले शहीदे आजम सरदार भगतसिंह जी, सुखदेव जी, राजगुरु जी के बलिदान दिवस पर आज इटारसी कांग्रेस कमेटी के एक कार्यक्रम में एक वक्ता ने इन शहीदों को तो याद किया, भारतीय जनता पार्टी को कोसने का अवसर नहीं छोड़ा। बाहर से आए वक्ता एवं मप्र कांग्रेस विचार विभाग के भूपेन्द्र गुप्ता ने भाजपा को जमकर कोसा।
कार्यक्रम श्रद्धांजलि सभा का था जिसमें मुख्य अतिथि पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी एवं अध्यक्ष मप्र कांग्रेस विचार विभाग भूपेंद्र गुप्त सहित अनेक स्थानीय वरिष्ठ नेता भी उपस्थित थे। शुरुआत में कांग्रेसियों ने तीनों क्रांतिकारियों के चित्र पर माल्यार्पण किया और कैंडल जलाकर श्रद्धासुमन अर्पित किए। श्री गुप्त ने कहा जिस पार्टी का इतिहास नब्बे साल का है, उसका अपना कोई महापुरुष नहीं, अपनी कोई फिलासफी नहीं, इतिहास पुरुषों के संस्मरण नहीं ऐसे लोग विद्वेष की राजनीति करते हैं, विचारों की नहीं। ऐसे लोग महात्मा गांधी की अहिंसा पर सवाल उठाते हैं, जबकि भगत सिंह, सुभाषचंद्र बोस ने कभी सवाल नहीं खड़े किए। सुभाषचंद्र बोस ने ही महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कहा था। उन्होंने कहा कि सवाल है, 133 करोड़ देशवासियों की अस्मत का, हमें तिरंगे के नीचे आकर देश को आगे बढ़ाना है।
पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी ने इस तरह के आयोजन के लिए जसपाल सिंह पाली भाटिया को धन्यवाद दिया और कहा कि उन्होंने कहा कि राजनीति से हटकर किया इस तरह का आयोजन नौजवानों को प्रेरणा देगा। श्री पचौरी ने कहा कि 23 मार्च को भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी दी गई थी, तीनों की अंतिम इच्छा पूछी तो तीनों ने एकदूसरे को गले लगाने की इच्छा बतायी।

CATEGORIES
TAGS
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: