शिक्षकों को कोरोना योद्धा (Corona warrior) घोषित करने की मांग

शिक्षकों को कोरोना योद्धा (Corona warrior) घोषित करने की मांग

होशंगाबाद। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अपना घर अपना स्कूल नामक अभियान चलाया जा रहा है। स्कूल शिक्षक भी कोरोना संक्रमण का शिकार हो रहे है। इस पर अपाक्स संघ ने एडीएम जीपीमाली (ADM GP Mali) को ज्ञापन सौंपकर पीडि़त शिक्षकों को कोरोना योद्धा घोषित करने की मांग की है।
अपाक्स ने मुख्यमंत्री और प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा से मांग की है कि पूरे प्रदेश में कोरोना महामारी फैली हुई है। जगह-जगह लॉकडाउन लगा हुआ है। ऐसी स्थिति में राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा अपना घर अपना विद्यालय अभियान चला रहा है। शिक्षकों को गांव-गांव, घर-घर भेजकर बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। साथ ही बच्चों का प्रतिदिन होमवर्क देखने और प्रतिदिन उनकी मानिटरिंग करने के निर्देश हैं। एक दिन में 5 बच्चों के घर जाना है। पढ़ाई का वीडियो बनाकर, वीडियो, फोटो भी उनके वरिष्ठ कार्यालय और वरिष्ठ अधिकारियों को भेजना है।
इस तरह राज्य शिक्षा केंद्र का व्यवहार शिक्षकों पर अतिरिक्त दबाव डाल रहा है। इसके चलते विदिशा जिले के प्राथमिक विद्यालय पहाड़ा अशोकनगर के शिक्षक संजीव रघुवंशी (Sanjeev Raghuwanshi) जो कि प्राथमिक शिक्षक थे, कोरोना ग्रस्त हो गए और कुछ ही दिनों में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। जबलपुर में हाल ही में 3 शिक्षक की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ज्ञापन में मांग की है कि शिक्षकों को घर-घर जाने की ड्यूटी से हटाया जाए एवं विदिशा जिले के प्राथमिक शिक्षक संजीव रघुवंशी को कोरोना योद्धा घोषित कर उनके परिवार को 50 लाख की राशि का भुगतान तत्काल प्रभाव से किया जाए। उनके परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति प्रदान की जाए। संघ ने अपना ज्ञापन एडीएम जीपी माली को सौंपा है। इस दौरान अपाक्स जिला अध्यक्ष डॉ. ज्योति जुनगरे, अजाक्स के जिलाध्यक्ष एनआर हरियाले, पूनम रैकवार, शेरसिंह मर्सकोले, दिनेश कहार आदि मौजूद थे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: