संसार में सिर्फ एक ही धर्म मानवता है: भगवती प्रसाद तिवारी

संसार में सिर्फ एक ही धर्म मानवता है: भगवती प्रसाद तिवारी

इटारसी। बाईखेड़ी में अयोजित हो रही भागवत कथा के तृतीय दिवस पर कथावाचक श्री भगवती प्रसाद तिवारी ने मानवता और धर्म के बीच के अंतर को बताया। श्री तिवारी ने कहा कि विश्व में अनेक धर्म, संप्रदाय, पंथ और विविध जाती के मनुष्य है। हर एक व्यक्ति की अपनी मान्यता है कि हिन्दू-मुस्लिम-सिख-ईसाई-जैन-बौद्ध अलग-अलग धर्म है, परन्तु जब सभी मिलकर विचार करेंगे तो पता चलेगा कि संसार में सिर्फ एक ही धर्म है और वो हे मानवता। ईश्वर ने सिर्फ नर और नारी का निर्माण किया है किसी जाति या धर्म का नही। परमेश्वर एक ही हे उसे प्राप्त करने का मार्ग बताने वाले अलग-अलग प्रकार से बता रहे हे। श्री तिवारी ने सभी मनुष्यों से आत्म-चिंतन करने की बात भी कही क्योंकि उसी से हम ईश्वर का साक्षात्कार कर पायंगे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW