सतर्कता : अंत्योदय एक्सप्रेस बर्निंग ट्रेन बनने से बची

इटारसी। बीती देर रात को रक्सोल-लोकमान्य तिलक जनसाधारण एक्सप्रेस के यात्रियों में उस वक्त अफरा-तफरी मच गयी जब ट्रेन बागरातवा रेलवे स्टेशन के पास पहुंच रही थी। ट्रेन की एक बोगी के ब्रेक चिपकने से निकली चिंगारी शोलों में बदल गयी। जैसे ही यात्रियों को आग की जानकारी मिली चैन पुलिंग कर ट्रेन को बागरातवा रेलवे स्टेशन पर रोका गया। रेलवे के स्टाफ और यात्रियों ने आग को बुझाया और पूरी तरह से संतुष्ट होने के बाद उसे इटारसी के लिए रवाना किया।
बीती रात रक्सोल-लोकमान्य तिलक टर्मिनस जनसाधारण अंत्योदय एक्सप्रेस की एक बोगी के ब्रेक चिपकने से गहरा धुआं उठा और चिंगारी से आग के शोले निकलने लगे। बोगी में धुआं भर जाने से यात्रियों ने घबराकर चेन पुलिंग की। भगदड़ में कई यात्रियों ने अपना सामान ट्रेन में ही छोड़ दिया तो कई के मोबाइल भी टूट गये। ऐसे में कई यात्रियों का सामान भी गुम हो गया है। आग जनरल कोच के निचले हिस्से में लगी थी। उस वक्त ट्रेन बागरातवा रेलवे स्टेशन क्रास कर रही थी। आग पर काबू पाने के लिए ट्रेन में मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने फायर बाक्स की मदद ली और करीब दस से बारह बाक्स खर्च कर दिये। जैसे ही ट्रेन रुकी यात्री जान छोड़कर भागे और ट्रेन से दूर बागरा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म और दूसरी पटरी के पार खड़े हो गये। एक यात्री नस्तीम आलम ने बताया कि वे लोग मोबाइल पर पिक्चर देख रहे थे। जैसे ही आग लगने की आवाज आयी, भगदड़ मची। इस दौरान किसी ने जंजीर खींची। ट्रेन रुकी तो लोग नीचे कूदने लगे और इस भगदड़ में उसका मोबाइल और चार्जर बोगी में ही छूट गया जो दोबारा वापस पहुंचे तो नहीं मिले।
घटना की जानकारी यात्रियों को ट्रेन में धुआं घुसने से हुई। किसी ने चेन पुलिंग की तो अग्नि शमन यंत्र से आग को बुझाना शुरु किया। इस दौरान रेलवे के कर्मचारी और आरपीएफ के जवान भी आ गये थे। एक अन्य यात्री अस्तान आलम ने बताया कि आग की जानकारी लगते ही सारी ट्रेन रोकी और सारी बोगी खाली कर दी गई थी। लोग गिरते-पड़ते प्लेटफार्म पर पहुंचे। यात्रियों और रेलवे के कर्मचारियों ने मिलकर आग बुझायी। इस कवायद में करीब दो घंटे बागरातवा रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन खड़ी रही। सुरक्षा कर्मी गोविन्द के अनुसार अचानक धुआं उठने से पता चला कि आग लगी है। तत्काल चेन खींची और नीचे आकर देखा तो चक्के के पास आग लगी थी। आरपीएफ और रेलवे कर्मचारी भी आ गये थे। सबने मिलकर आग पर काबू पाया।
बता दें कि रविवार की रात को करीब साढ़े 8 बजे जब 15267 रक्सोल-लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस बागरातवा पहुंच रही थी तो ट्रेन की एक बोगी के नीचे ब्रेक में अचानक आग लग गई जिसके चलते ट्रेन में बैठे यात्रियों में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। आनन-फानन में ट्रेन को बागरा स्टेशन पर रोका गया। ट्रेन करीब 2 घंटे तक बागरा स्टेशन पर खड़ी रही। सबकुछ सामान्य होने के बाद ट्रेन रात करीब 11:50 बजे इटारसी पहुंची। यहां मौके पर डिप्टी एसएस एलएल माधव और सीएंडडब्ल्यू के कर्मचारियों के साथ ही आरपीएफ अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। रेल अधिकारियों के अनुसार ट्रेन के कोचों की जांच की है, ब्रेक चिपक जाने से चिंगारी निकली थी। कोई विशेष नुकसान नहीं हुआ है। जांच के बाद ट्रेन को आगे बढ़ा दिया गया था।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW