सरकार आरएसएस के स्कूलों को दे रही सहायता : कांग्रेस

इटारसी। नीति आयोग के अटल नवाचार मिशन के अटल टिंकरिंग लैब (एटीएल) के तहत आधुनिक प्रयोगशाला बनाए जाने के नाम पर होशंगाबाद जिले में आरएसएस द्वारा संचालित दो स्कूलों को 20-20 लाख रुपए दिए जाने की कांग्रेस ने आलोचना की है।
कांग्रेस के संभागीय प्रवक्ता अशोक जैन ने कहा कि भाजपा सरकारी स्कूलों और उनमें पढऩे वाले गरीब बच्चों के हक को मारकर आरएसएस के स्कूलों को आर्थिक लाभ पहुंचा रही है। भाजपा का यह काम बताता है कि सरकार और उसके विभाग किस तरीके से आरएसएस और उसके अनुषांगिक संगठनों की कठपुतली बने हुए हैं।
पिछले 15 साल में शिवराज सरकार ने प्रदेश में शिक्षा और उसके साधनों को बर्बाद कर दिया है और अब जो कुछ भी सरकारी तौर पर शासकीय स्कूलों के लिए जो पैसा खर्च किया जाना चाहिए उसे भी अपनी मातृ संस्था को मजबूत करने के लिए दिया जा रहा है, वही सरकारी स्कूल बिना भवन, शिक्षक एवं सुविधाओं के चलने को मजबूर है।
विचित्र बात यह है इस योजना के लिए जिले में 4 स्कूलों का चयन किया है उसमें तीन बनखेड़ी के हैं और एक सोहागपुर का है। बनखेड़ी में ही आरएसएस द्वारा संचालित सरस्वती ग्रामोदय विद्यालय और सरस्वती शिशु मंदिर को आधुनिक प्रयोगशाला बनाने के नाम पर यह रकम दी गई है। श्री जैन ने मांग की है सरकार तत्काल आरएसएस के दोनों स्कूलों को 20 -20 लाख रुपए दिए जाने के आदेश को रद्द करें और यह रकम होशंगाबाद जिले के इटारसी और सिवनी मालवा के सरकारी स्कूलों को दी जाए ताकि गरीब व ग्रामीण छात्रों की शैक्षणिक गुणवत्ता बेहतर हो सके और वे विज्ञान की नई तकनीक की जानकारी हासिल कर सके।

CATEGORIES
TAGS
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: