सर्वधर्म नि:शुल्क सामूहिक विवाह हुआ संपन्न

सर्वधर्म नि:शुल्क सामूहिक विवाह हुआ संपन्न

पंद्रह जोड़ों ने गृहस्थ जीवन में प्रवेश किया
इटारसी। समीपस्थ ग्राम रामपुर में आज नि:शुल्क सर्वधर्म सामूहिक विवाह आयोजन में 15 जोड़ों ने सात फेरे लेकर साथ जीने-मरने की कसमें खायीं। आज रामपुर के राधावल्लभ मंदिर प्रांगण में सर्वधर्म सामूहिक विवाह का आयोजन रामपुर के पूर्व सरपंच आशुतोष शरण तिवारी ने कराया। नि:शुल्क सामूहिक विवाह में एक जोड़ा गुजरात से भी शामिल होने आया था।
इस बार सभी वर-वधु हिंदु हैं। हालांकि कार्यक्रम में मुस्लिम समाज के लोग भी शामिल हुए हैं। खास बात यह है कि इस आयोजन में वे कोई सहयोग नहीं लेते हैं। विभिन्न संस्थाओं और जनसहयोग से होने वाले इस आयोजन में वर-वधुओं को हजारों रुपए के उपहार दिए जाते हैं। इस वर्ष सभी जोड़ों को गौ दान भी किया गया है।
रविवार को हुए सामूहिक विवाह में सोहागपुर विधायक ठाकुर विजयपाल सिंह ने शामिल होकर वर-वधुओं को आशीर्वाद प्रदान किया। विधायक श्री सिंह ने कहा कि रामपुर में होने वाला यह आयोजन अन्य समाज और शहरों के लिए प्रेरणा का काम करेगा। उन्होंने कहा कि यहां गरीब बच्चियों का विवाह किया जाता है तो प्रेरणादायी होने के साथ ही अनुकरणीय भी है। विधायक विजयपाल सिंह के साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल ने भी वर-वधुओं की पांव पखरई की।
इससे पूर्व सुबह कार्यक्रम स्थल शहीद इंदरगिरि शासकीय स्कूल से बारात निकाली गई जो गांव में करीब दो घंटे घूमकर बाजार होते हुए कार्यक्रम स्थल पहुंची। यहां वरमाला का कार्यक्रम हुआ तथा बारातियों को भोजन कराया गया। इसके बाद राधा-वल्लभ मंदिर में विवाह की रस्में निभाई गईं। कार्यक्रम में अमन मुस्लिम वेलफेयर सोसायटी की ओर से अध्यक्ष मुस्ताक अहमद ने शामिल होकर एक-एक जोड़ी कपड़े भेंट किए तो आजाद चौक दुर्गा उत्सव समिति ने वधुओं को एक-एक साड़ी और माता की चुनरी भेंट की। आयोजक महाकाल समिति ने वर-वधुओं को गृहस्थी का सामान और पांच जेवर जिसमें दो सोने और तीन चांद के, भेंट किए।
आज सुबह से रामपुर के राधावल्लभ मंदिर में हुए इस आयोजन के लिए आयोजन समिति के सदस्यों में भारी उत्साह रहा और लोगों की सेवा भावना देखते ही बनती थी। इस आयोजन में खास बात यह है पूरे रीति-रिवाज के साथ विवाह कराया जाता है और कन्याओं को गृहस्थी का सामान भी दिया जाता है। इधर बारातियों के स्वागत से साथ ही यहां आने वाले व्यक्ति का स्वागत और भोजन की व्यवस्था की जाती है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: