सहायक सचिव के खिलाफ पंच ने खोला मोर्चा

इटारसी। शहर से सटे ग्राम मेहरागांव के सचिवालय में एक पंच के नेतृत्व में ग्रामीणों ने सहायक सचिव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि सहायक सचिव कोई काम नहीं करते हैं और जब उनसे किसी भी संदर्भ में जानकारी मांगी जाती है तो वे ग्रामीणों से और गांव की महिलाओं तक से अभद्रता करने को उतारू हो जाते हैं।
ग्राम पंचायत मेहरागांव का सचिवालय मेहरागांव में स्थित है। यहां पदस्थ सहायक सचिव के खिलाफ शुक्रवार को सुबह ग्रामीणों ने हल्ला बोल दिया है। ग्रामीणों ने सचिवालय में रखे कम्प्यूटर्स और लैपटॉप पर पोस्टर चस्पा करते हुए सहायक सचिव का विरोध किया तथा जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत मुर्दाबाद और सहायक सचिव की तानाशाही नहीं चलेगी के पोस्टर सहायक सचिव की कुर्सी पर भी चस्पा कर दिये। इस दौरान पंच शेख फारूख के नेतृत्व में राकेश बोरासी, हरिशंकर पाल, रोहित पाराशर, कुणाल शिरके, राजकुमार बोरासी, मुन्ना पाल, राजकुमार भैसारे सहित अन्य युवक शामिल थे। पंच शेख फारुख के अनुसार सहायक सचिव पिछले 1 वर्ष से फूड कूपन व समग्र आईडी के लिए लोगों को परेशान कर रहा है। जब भी ग्रामीण उनसे इस संदर्भ में जानकारी मांगते हैं तो वे ग्रामीणों खासकर महिलाओं से अभद्र व्यवहार करते हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि सहायक सचिव जल्द से जल्द काम नहीं करते हैं तो होशंगाबाद में जाकर विरोध प्रदर्शन करेंगे।
इनका कहना है…!

हमारे पास भी शिकायतें आती हैं। हमने भी उच्च स्तर पर इसकी जानकारी दी है। पंचों ने जो किया है, वह इसी की परिणित है कि काम अटकाये जाते हैं। हम पंचों से कहेंगे कि वे हमसे आकर मिलें तो हम जनपद स्तर पर शिकायत करके व्यवस्था में सुधार करेंगे।
जितेन्द्र पटेल, सरपंच ग्राम पंचायत मेहरागांव

यदि कोई काम नहीं हो रहे हैं तो सचिव और सरपंच जिम्मेदार हैं। मैं छोटा कर्मचारी हूं, मुझे टारगेट क्यों बनाया जा रहा है। मैं तो रोजगार सहायक हूं। मेरे पास जब भी कोई आया है, मैंने सबके काम किये हैं। मेरे ऊपर लगाये जा रहे सभी आरोप बेबुनियाद है।
जितेन्द्र पटेल, रोजगार सहायक ग्राम पंचायत मेहरागांव

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW