सात दिन में बिजली शिफ्टिंग नहीं बदली तो होगा घेराव

सात दिन में बिजली शिफ्टिंग नहीं बदली तो होगा घेराव

इटारसी। भारतीय किसान संघ ने कृषि के लिए दी जा रही बिजली में शिफ्टिंग सिस्टम में बदलाव की मांग की है। गुरुवार को मुख्यमंत्री के नाम नायब तहसीलदार विनय प्रकाश ठाकुर को दिये ज्ञापन में संघ के नेताओं ने कहा कि यदि शिफ्टिंग में परिवर्तन नहीं किया तो बिजली कार्यालय का घेराव किया जाएगा।
संघ के जिला मीडिया प्रभारी रजत दुबे ने कहा कि वर्तमान में किसानों को पैसों की आवश्यकता है। ऐसी स्थिति में शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर उपार्जित धान का भुगतान अभी तक नहीं हुआ है तथा शासन ने धान का भुगतान किश्तों में देने की बात कही है। यह किसान हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों को रात्रि के समय विद्युत आपूर्ति हो रही है। किसान रात के समय सिंचाई करने के लिए विवश तथा परेशान है। उन्होंने कहा कि यह किसान विरोधी निर्णय है, जिसे शीघ्रता से साप्ताहिक शिफ्टिंग में किया जाना चाहिए अन्यथा किसान 7 दिन के बाद सब स्टेशन घेराव करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने पिछले वर्ष 2019-20 में उपार्जित धान पर 160 रुपए बोनस का वादा किया था, सरकार को इसके अनुसार शीघ्र ही किसानों को बोनस दिया जाए। इसी तरह से जंगली जानवरों द्वारा किसान की फसलों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। वनविभाग इस तरफ ध्यान देकर उचित प्रबंध करे। किसान संघ ने यह भी मांग की है कि खेत पहुंच मार्ग निर्मित किए जाएं, खेड़ा इटारसी से रामपुर पहुंच मार्ग शीघ्रता से निर्मित किया जाए।
भारतीय किसान संघ के युवा वाहिनी संयोजक सुनील सिंह चौहान ने बताया कि शीघ्रता से भारतीय किसान संघ की समस्त मांगों का निराकरण किया जाए अन्यथा भारतीय किसान संघ उग्र आंदोलन करेगा। ज्ञापन सौंपते समय तहसील अध्यक्ष श्रीराम दुबे, जिला उपाध्यक्ष मोरसिंह राजपूत, तहसील मंत्री लीलाधर राजपूत, रामकिशोर राजपूत, सुभाष साध, श्यामकिशोर लौवंशी, मुकेश पटैल, रामस्वरूप चौरे, मो.सद्दाम पटैल, ब्रजेश पटैल, कमलेश चौरे आदि उपस्थिति थे।

CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW