साहित्य में परसाई से है होशंगाबाद की पहचान : जमनानी

इटारसी। व्यंग्यकार हरिशंकर परसाई की जन्मस्थली ग्राम जमानी में उनके जन्मदिन पर गुरुवार को स्कूली बच्चों ने उनकी रचनाओं पर लघु नाटिका पेश की तो साहित्य प्रेमियों ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का आयोजन ग्राम पंचायत के सभागार में किया गया था।
व्यंग्यकार हरिशंकर परसाई के जन्मदिवस पर जमानी में आयोजित कार्यक्रम में हायर सेकेंडरी स्कूल जमानी के बच्चों ने श्री परसाई के व्यंग्यों से साभार एक लघुनाटिका का मंचन किया। यह मंचन इटारसी निवासी एयरफोर्स के रिटायर्ड फौजी राजेन्द्र दुबे के निर्देशन में किया गया जो वर्तमान में भोपाल में थियेटर आर्टिस्ट हैं। विद्यार्थियों ने श्री परसाई की दो रचनाओं सदाचार का ताबीज़ और इंस्पेक्टर मातादीन चांद पर, का मंचन किया। इस दौरान साहित्यकार अशोक जमनानी ने कहा कि साहित्य के क्षेत्र में होशंगाबाद की पहचान ही हरिशंकर परसाई के नाम से। उन्होंने कहा कि साहित्य के क्षेत्र में उनके नाम ने दिल्ली और मुंबई से भी बड़ा बना दिया है। उन्होंने कहा कि एसी में बैठकर परसाई जी को नहीं समझा जा सकता है।
इस कार्यक्रम में प्रोफेसर केएस उप्पल, सुरेश दीवान रोहना, अशोक जमनानी होशंगाबाद, सुनील वाजपेयी इटारसी, एनके चौधरी भोपाल, मनोज पटेल हरदा, नन्हेंलाल भाटी हरदा, ग्राम सेवा समिति निटाया और रोहना के सदस्यों के साथ ही ग्राम के प्रबुद्ध नागरिक अश्विनी कुमार दुबे, आरबी चौधरी, पवन दुबे, सरपंच माखनलाल और सैकड़ों की संख्या में किसान और स्कूली बच्चे उपस्थित थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW