सुबह 4 बजे से लगातार चल रहा है टिड्डी दल के खात्मे का आपरेशन

सुबह 4 बजे से लगातार चल रहा है टिड्डी दल के खात्मे का आपरेशन

किसान न घबराएं, 80 फीसद मिल गयी सफलता
इटारसी। टिड्डी दल के हमले से किसान बिलकुल भी न घबरायें, हमारे क्षेत्र में जो दल आया है, वह काफी छोटा था, और उसमें से भी 80 फीसद का खात्मा हो गया है। मंगलवार तक इस पर विजय पा लेने की उम्मीद है। यह भरोसा कृषि वैज्ञानिक और कृषि विभाग के अधिकारियों ने दिलाया है। पिछले दो दिनों से लगातार अधिकारी सुबह-सुबह पहुंचकर टिड्डी दल के खात्मे के अभियान में लगे हैं। कार्रवाई के के दौरान सिवनी मालवा विधायक प्रेमशंकर वर्मा तथा राजस्व, कृषि एवं पंचायत के अधिकारी एवं किसान उपस्थित रहे।
जिला प्रशासन के नेतृत्व में जिले के सिवनी मालवा ब्लाक के गांवों में आये टिड्डी दल के खात्मे का अभियान चलाया जा रहा है। इस कार्य में प्रशासन को 80 फीसद सफलता मिल गयी है, अब शेष 20 फीसद सफलता सोमवार-मंगलवार की रात से सुबह तक हो जाएगा। प्रशासन ने चार दमकलों की मदद के साथ ही ट्रैक्टर चलित पॉवर स्प्रे का इस्तेमाल कर कीटनाशक का छिड़काव करके टिड्डियों को मार दिया है और बहुत से टिड्डी उड़कर भाग निकले हैं।

अफवाहों में न आयें, बहुत छोटा दल है
कृषि विज्ञानिकों का कहना है कि जिस तरह से प्रचारित किया जा रहा था कि यह बड़ा दल है, वैसा कुछ भी नहीं है। होशंगाबाद जिले तक पहुंचने वाले टिड्डियों की संख्या काफी कम थी। छोटा दल होने से भयभीत होने की जरूरत नहीं है। इसे भी लगभग खत्म कर लिया है। प्रशासन अपना काम कर रहा है, बावजूद इसके किसी खेत पर टिड्डी हमला कर देते हैं तो किसानों को लेम्बडासायहैलोथ्रीन 5 प्रतिशत ईसी या क्लोरपायरीफॉस 50 प्रतिशत ईसी को 1 मिली प्रति लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करना है।

यहां चलाया है आपरेशन
कलेक्टर धनंजय सिंह के निर्देश पर सिवनी मालवा के ग्राम हमीरपुर, रामगढ़, अर्चना ग्राम, लूचगांव, उमरिया में एसडीएम रवि शंकर राय, उपसंचालक कृषि जितेंद्र सिंह, तहसीलदार दिनेश सावले, जनपद सीईओ दुर्गेश भूमरकर, सहायक संचालक कृषि योगेन्द्र बेड़ा एवं भारत सरकार के कृषि वैज्ञानिक रवि छापरे के नेतृत्व में टिड्डी दल पर नियंत्रण हेतु प्रभावी कार्रवाई की है। 4 फायर ब्रिगेड एवं ट्रैक्टर चलित पावर स्प्रे से लेम्डा साईथ्रोलिन कीटनाशक दवा से छिड़काव कर टिड्डीदल पर नियंत्रण किया।

इनका कहना है…!
यहां टूटा हुआ दल आया था। जब दल टूट जाता है तो वह अधिक रन नहीं कर पाता है। किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। यहां हरियाली होने और बड़े पेड़ होने से उन पर बिखरे रूप में बैठ रहे हैं। जिला प्रशासन के सहयोग से लगभग 80 फीसद दल को खत्म कर दिया है। एक या दो दिन में सब खत्म हो जाएंगे।
डॉ. रवि छापरे, कृषि वैज्ञानिक इंदौर

दो दिन से लगातार ऑपरेशन चल रहा है। अल सुबह से पेड़ों पर फायर ब्रिगेड के जरिए कीटनाशक का छिड़काव कर रहे हैं। 80 प्रतिशत टिड्डियों को खत्म कर दिया है। टूटा दल है, यह अधिक नहीं रन कर पाता है। शेष 20 प्रतिशत भी एक या दो दिन में खत्म कर लेंगे। किसानों का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है।
जितेन्द्र सिंह, उपसंचालक कृषि होशंगाबाद

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW