स्वच्छ व सुंदर स्टाल प्रतियोगिता के ईनाम बांटे

जीएम, डीआरएम अवार्ड प्राप्त कर्मचारियों का सम्मान भी किया
इटारसी। गणतंत्र दिवस के अवसर पर स्वच्छ व सुंदर स्टॉल प्रतियोगिता के अलावा रेल महाप्रबंधक पुरस्कार, मंडल रेल प्रबंधक पुरस्कार प्राप्त कर्मचारियों और वेंडर्स को रेलवे स्टेशन पर बुधवार को समारोह का आयोजन कर पुरस्कृत किया है।
रेलवे स्टेशन पर बुधवार की शाम को जीएम, डीआरएम अवार्ड प्राप्त कर्मचारियों को एक समारोह आयोजित कर सम्मान किया। इसके साथ ही स्वच्छ, सुंदर प्रतियोगिता का आयोजन 26 जनवरी को किया था उसका पुरस्कार वितरण समारोह भी आयोजित किया। प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किये गये। कार्यक्रम में विशेष अतिथि एडीएमई एचएन सिंह, अध्यक्षता स्टेशन प्रबंधक एसके जैन ने की। इस अवसर पर एसएसई वक्र्स एमके अग्रवाल, किशोरीलाल रणसूरमा, श्री माथुर, आरपीएफ से छत्रपाल सिंह, सीटीआई दीपक जेम्स, सौरभ पांडेय, रोशन, जितेन्द्र सुरेन्द्र विवेक आदि उपस्थित थे।
26 जनवरी के विजेता
प्रथम स्थान पर मे.एएस सेल्स, द्वितीय श्रीमती सुचेता उईके, तृतीय मेसर्स सोपान और उत्कृष्ट लहर ट्रेडर्स सायकिल, स्कूटर, पार्किंग स्टैंड को तथा सांत्वना पुरस्कार मे. वाटर वेडिंग मशीन को मिला।
जीएम अवार्ड : केई गुप्ता सीएंडडब्ल्यू, मयंक गुप्ता एसएंडटी, मानस मित्रा सीटीआई, अरविंद चौधरी एलपीजी, प्रीति शेषकर बुकिंग क्लर्क।
डीआरएम अवार्ड : गौरव तिवारी जेई वक्र्स, आरके मालवीय उपस्टेशन प्रबंधक, देवेन्द्र सिंह चौहान उपस्टेशन प्रबंधक, सुरेन्द्र प्रसाद मेलगार्ड, अयाज खान कांटेवाला, श्रीराम केवल लोको पायलट, रंजना यादव सहायक लोको पायलट, मनोहर लाल वरिष्ठ टेक्निशियन, शमशेर खान वरिष्ठ माल लिपिक, रंजीत दत्त एसीटीआई, मनीष डोंगरे हेल्पर, दिनेश सिंह टै्रक मेंटेनर, प्रिमेश सिंह ट्रैक मेंटेनर, रमेश चंद्र अहिरकर, गोविन्द्र प्रसाद मिश्रा, प्रवीण एच पाटिल, वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर सीएंडडब्ल्यू, सोनू सिंह परिहार प्रधान आरक्षक आरपीएफ और अजीत सिंह आरपीएफ इंस्पेक्टर।
इनका कहना है…
जीएम और डीआरएम अवार्ड दिये जाते हंै। लेकिन भोपाल से अवार्ड प्राप्त करने के बाद कर्मचारी घर जाते हैं। लोगों को पता नहीं चलता कि किसे कौन सा अवार्ड मिला है। हमने उनको यहां सम्मानित किया है। करीब 6 को जीएम अवार्ड और 19 को डीआरएम अवार्ड मिला है। लोग एकदूसरे से मिलें और जाने कि किसे क्या मिला, इसके लिए यह कार्यक्रम किया है।
एसके जैन, स्टेशन प्रबंधक

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW