हजारों नम आंखों से दी अंतिम विदाई, तीन घरों के इकलौते चिराग बुझे

इटारसी/होशंगाबाद। सोमवार को सुबह, सड़क हादसे में मृत होनहार हॉकी खिलाड़ी का शाम को यहां तरोंदा रोड पर स्थित मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार कर दिया गया। अंतिम संस्कार में विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा, प्रदेश के खेल संचालक एसएल थाउसन, कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह, एसपी एमएल छारी सहित अन्य पुलिया और जिला प्रशासन के अधिकारी, जिला हॉकी संघ के पदाधिकारी, शहर के हॉकी खिलाड़ी, शहर के अनेक नागरिकों ने शामिल होकर होनहार खिलाड़ी के प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित किये। साथी हॉकी खिलाडिय़ों ने अपने साथी को हॉकी ऊपर करके सम्मान के साथ विदा किया।
उल्लेखनीय है कि सोमवार को सुबह इटारसी से होशंगाबाद हॉकी प्रतियोगिता में खेलने जा रहे प्रदेश के सात खिलाड़ी की कार ग्राम ब्यावरा के पास बुरी तरह से दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी जिसमें चार खिलाडिय़ों की मौत हो गयी जबकि तीन बुरी तरह से जख्मी हो गये थे। जख्मी खिलाडिय़ों का उपचार होशंगाबाद के नर्मदा अपना अस्पताल में चल रहा है। जबकि इंदौर के शाहनवाज, जबलपुर के आशीष लाल और ग्वालियर के अनिकेत वरुण का शव पोस्टमार्टम के बाद उनके परिजनों को सौंप दिया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, खेल मंत्री जीतू पटवारी, जिले के प्रभारी मंत्री पीसी शर्मा, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद राव उदयप्रताप सिंह, विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए पीडि़तों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की है। सूचना मिलते ही विधायक डॉ. शर्मा ने अस्पताल पहुंचकर घटना की जानकारी ली। दोपहर में खेल मंत्री जीतू पटवारी भी नर्मदा अस्पताल और जिला अस्पताल पहुंचे थे।

जन्मदिन मनाने इटारसी आए थे
बता दें कि इटारसी के साथी खिलाडिय़ों ने रविवार को ही आदर्श हरदुआ का जन्मदिन भी मनाया था। ये सभी खिलाड़ी भी इसी कार्यक्रम में इटारसी आए थे। सभी खिलाड़ी कार क्रमांक एमपी 05 सीए 5816 से वापस होशंगाबाद जा रहे थे। चारों खिलाड़ी एमपी अकादमी से खेलते हैं। तीनों घायल खिलाडिय़ों इटारसी के शान पिता गिडियन अल्फ्रेड और साहिल पिता विजय चौरे तथा ग्वालियर के ग्वालियर के अक्षय अवस्थी पिता कुलदीप अवस्थी का उपचार नर्मदा अस्पताल होशंगाबाद में चल रहा है। घटना की सूचना मिलने पर एफआवी 03 मौके पर पहुंची थी जहां पायलट अमित कुमार और आरक्षक राहुल 403 ने घायलों को पिकअप से अस्पताल पहुंचाया। घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर शीलेन्द्र कुमार और एसपी एमएल छारी भी अस्पताल पहुंचे और घायलों से मिलकर घटना की जानकारी और डाक्टर्स से उपचार के विषय में जानकारी प्राप्त की।

दूसरे वाहन को बचाने में अनियंत्रित
पुलिस अधीक्षक एमएल छारी को नर्मदा अस्पताल में भर्ती शॉन गिडियन ने बताया कि सामने कोई वाहन आ गया था और उसके बचाने के प्रयास में उनकी गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया था जिससे वाहन समीप ही पेड़ से जा टकराया। एसपी श्री छारी ने बताया कि ये लोग सुबह इटारसी से होशंगाबाद आ रहे थे, यहां होशंगाबाद में चल रही हॉकी प्रतियोगिता में उनके मैच चल रहे हैं। सभी एमपी हॉकी अकादमी के स्टुडेंट हैं। सूचना मिलने पर डायल 100 से उनको लेकर आये हैं। अस्पताल में चार लोगों की मौत हो गयी है, तीन घायलों में से एक की स्थिति अभी गंभीर है। उन्होंने घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हुए कहा कि घटना की वजह की फिलहाल जांच की जा रही है।

जरूरी हुआ तो भोपाल में होगा इलाज
होशंगाबाद के सड़क हादसे पर होशंगाबाद जिले के प्रभारी मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि हादसे में घायल 3 घायलों का इलाज चल रहा है। उनकी कलेक्टर और एसपी से बात हुई है। गंभीर घायलों को जरूरी हुआ तो इलाज के लिए भोपाल भी लाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं, जो प्रावधान होगा उसके अनुसार आर्थिक मदद की जाएगी। खेल विभाग के डायरेक्टर एसएल थाउसन के अनुसार खिलाडिय़ों का विभाग ने भी बीमा कराया था। इसके तहत पांच-पांच लाख की राशि होगी मिलेगी। शासन की ओर से जो आर्थिक मदद होगी, वह भी दी जाएगी। दर्दनाक हादसे के बाद चार परिवारों ने अपने चार होनहार चिराग खो दिए हैं। हालांकि इस क्षति की पूर्ति तो नहीं हो सकती, फिर भी हादसे के बाद मृतकों के परिजनों को आयोजन समिति ने हर हादसे के मृतक परिवार को 25-25 लाख रुपये सहायता की मांग की है ताकि उन्हें आर्थिक मदद मिल सके। इस हादसे के बाद टूर्नामेंट रद्द कर दिया गया है। एडीएम के डी त्रिपाठी के अनुसार जिला प्रशासन ने मृतकों को 25 हजार और घायलों को 15 हजार रुपए सहायता देने का एलान किया है।


खेल मंत्री जीतू पटवारी आए होशंगाबाद
सड़क दुर्घटना की जानकारी मिलने के बाद खेल मंत्री जीतू पटवारी ने होशंगाबाद आकर नर्मदा हॉस्पिटल में घायलों को देखा और उनका हाल जाना। मीडिया से चर्चा में श्री पटवारी ने कहा कि उन्हें खबर मिली है कि 1 बच्चे के बर्थडे प्रोग्राम में यह खिलाड़ी गए थे। कोच ने बच्चे के परिवार के निवेदन को स्वीकार करके उन्हें जाने दिया था। यह हमारे परिवार के बच्चे थे। सीएम कमलनाथ के संज्ञान में यह बात है और उन्होंने निर्देश दिए इसके बाद वे इंदौर से झाबुआ जाने के दौरान बीच रास्ते से लौटकर होशंगाबाद आए हैं। विभाग के सारे अधिकारी भी आ चुके थे। मध्य प्रदेश स्पोर्ट्स अकैडमी में यह पहली घटना है। हम सभी खिलाडिय़ों के परिवार के साथ हैं। आर्थिक सहयोग तो जो होगा, वह हमारी जिम्मेदारी है ही। लेकिन हम हमेशा खिलाडिय़ों के परिवार के साथ हैं। जहां तक जिम्मेदारी की बात है, तो घटना की जिम्मेदारी भी तय की जाएगी। उन्होंने विभाग को कहा है कि संपूर्ण घटना की जांच कर मुझे रिपोर्ट दें।

घटना ने झकझोर दिया है : ध्यानचंद
पूर्व हॉकी खिलाड़ी अशोक ध्यानचंद ने घटना पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि इस हादसे ने मुझे झझकोर दिया है। उन्होंने बताया आदर्र्श हरदुआ से उनकी बात हुई थी। आदर्श ने बताया था कि वह 17 वर्ष पूर्ण कर चुका है। वह अपना जन्मदिन मनाने के लिए घर गया था। लेकिन अगले सुबह ही उसकी मौत की खबर आ गई। शहनावाज के विषय में बतया कि उसने पांच दिन पहले ही एकडेमी ज्वाइन की थी। जबकि वरुण और अनिकेत का इंडिया जूनियर लेवल पर भी चयन हो गया है। अनिकेत, वरुण और आदर्श अपने घर के इकलौते बेटे थे।

बचपन से था हॉकी का जुनून
आदर्श का परिवार हॉकी खेल के प्रति समर्पित है। उसे भी बचपन से ही हॉकी खेल का जुनून था। उसने भी बहुत छोटी उम्र में ही हॉकी हाथ में ले ली थी। वह वर्तमान में स्कूली स्टुडेंट था। जितना अच्छा हॉकी प्लेयर था, पढ़ाई में भी उतना ही हौनहार था। गांधी मैदान पर वह हॉकी का अभ्यास करता था। उसने अपनी हॉकी की प्रतिभा के बल पर अकादमी में प्रवेश पाया था। उसकी तमन्ना भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक खेलने की थी। वह परिवार की भी उम्मीद था। लेकिन उसके जाने से परिवार की भी उम्मीद टूट गयी। उसकी मौत पर उसके साथी खिलाड़ी भरोसा नहीं कर पा रहे हैं। खिलाडिय़ों में गम का माहौल है।

हॉकी खिलाड़ियों की अकस्मात मृत्यु से हॉकी जगत को अपूर्णीय क्षति
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रदेश के राष्ट्रीय स्तर के हॉकी खिलाड़ियों की सड़क दुर्घटना में अकस्मात मृत्यु होने पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है। श्री कमल नाथ ने शोक संदेश में कहा कि इन खिलाड़ियों की मृत्यु से प्रदेश के हॉकी जगत को अपूर्णीय क्षति हुई है।श्री कमल नाथ ने कहा कि होनहार खिलाड़ी श्री शाहनवाज खान, श्री आदर्श हरदुआ, श्री आशीष लाल और श्री अनिकेत की दु:खद मृत्यु से उन्हें गहरा आघात पहुँचा है। उन्होंने कहा कि ये सभी खिलाड़ी मध्यप्रदेश का गौरव थे। इनसे न केवल प्रदेश को बल्कि पूरे देश को बड़ी आशाएँ थीं। श्री कमल नाथ ने कहा कि इनके दु:खद निधन से हमने उभरते हुए प्रतिभावान खिलाड़ियों को खो दिया है। पूरा हॉकी जगत सदैव इनकी कमी महसूस करेगा। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत खिलाड़ियों की आत्मा को शांति प्रदान करने और उनके परिवारजनों को यह गहन दु:ख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने दुर्घटना में घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए उन्हें बेहतर से बेहतर इलाज उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं।

CATEGORIES
TAGS
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW