हजारों भोलाभक्तों ने पूजा कर अर्पण किए त्रिशूल

हजारों भोलाभक्तों ने पूजा कर अर्पण किए त्रिशूल

पचमढ़ी। महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर हजारों श्रृद्धालुओं ने महादेव मेले में पूजा अर्चना की तथा त्रिशूल अर्पित किए। महाराष्ट्र के नागपुर, अमरावती, चंद्रपुर , वर्धा, मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा, बैतूल, एवं अन्य स्थानों से आए हजारों श्रद्धालुओं ने पूरी श्रद्धा के साथ बड़ा महादेव, चौरागढ़ जटाशंकर आदि स्थानों में पूजा अर्चना की।
कलेक्टर अविनाश लवानिया, महादेव मेला समिति के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत पीसी शर्मा, pachmari24217 (1)एडीएम मनोज सरेयाम एवं एसडीएम सतीश कुमार एस ने महाशिवरात्रि के पर्व पर महादेव मेला स्थल पर रुककर श्रद्धालुओं को सभी मूलभूत आवश्यक सुविधाएं प्राप्त हों तथा किसी किस्म की परेशानी न हो इसके प्रयास किये।
कलेक्टर ने आज संबंधित अधिकारियों को श्रद्धालुओं को किसी तरह की असुविधा ना हो इसके लिए पूरा जोर लगाने के निर्देश दिए। कलेक्टर एवं सीईओ ने बड़ा महादेव एवं मेला क्षेत्र में श्रद्धालुओं से चर्चा की एवं जानकारी प्राप्त की कि उन्हें किसी तरह की समस्या ना हो। श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क पेयजल, बिजली, ठहरने के लिए टेंट की व्यवस्था, आवगमन सुविधा, मेला क्षेत्र में साफ-सफाई, जगह-जगह डस्टबीन की व्यवस्था, निशुल्क दवाएं, कंट्रोल रूम से शिकायतों का त्वरित निराकरण, व्यवस्थित पार्र्किंग सुविधा दी गई।
कलेक्टर ने सर्वाधिक भीड़ वाले स्थानों पर स्वयं कमान संभाली तथा उन्होंने मेला क्षेत्र के सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर जाकर श्रद्धालुओं से जाकर चर्चा कर फीडबैक प्राप्त किया।
बडा महादेव के दर्शन कर पूजा अर्चना की
कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बड़ा महादेव मंदिर पर जाकर पूजा अर्चना की, साथ ही उपस्थित श्रद्धालुओं से चर्चा की। उन्होंने श्रद्धालुओं से दी जा रही सुविधाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मंदिर के आसपास क्षेत्र में लगातार साफ सफाई करने के निर्देश दिये। महादेव मंदिर में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत पीसी शर्मा, एडीएम मनोज सरेयाम ने भी पूजा अर्चना की।
जिला प्रशासन ने मेले में की सख्त कार्यवाही
कलेक्टर अनिनाश लवानिया के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन की टीम ने जहां एक ओर महादेव मेले में आने वाले श्रृद्धालुओं की सुविधाओं का पूरा ख्याल रखा। वहीं प्रशासन ने मध निषेध, गुणवत्ता पूर्ण खाद्य सामग्री श्रद्धालुओं को मिले इस बात का पूरा ध्यान रखा। प्रशासन ने श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ साथ अवैध शराब की धर पकड़, दूषित खाद्य सामग्री को मौके पर ही नष्ट करना, टैक्सियों द्वारा अवैध वसूली पर रोक, 13 सहायक कन्ट्रोल रूम से गुमशुदा संबंधी एवं अन्य जानकारियों से श्रद्धालुओं को बड़ी आसानी हुई, वहीं प्रशासन द्वारा लगाये गये टेंटों में श्रद्धालुओं ने विश्राम किया। प्रषासन ने मेला क्षेत्र पर पूरा समय निगाह रखी।
श्रद्धालुओं ने की व्यवस्थाओं की सराहना
महाशिवरात्रि पर चौरागढ़ शिवमंदिर के दर्शन करने महाराष्ट्र राज्य के अमरावती से दीपक यादव ने बताया कि वे पिछले तीन वर्षों से लगातार चौरागढ़ दर्शन करने आ रहे हैं। इस बार उन्हें पहले से काफी अच्छी व्यवस्थाएं मिली। उन्होंने प्रशासन द्वारा स्थान-स्थान पर पेयजल के लिए की गयी व्यवस्था तथा जगह-जगह पर की गई वेरिकेटिंग व्यवस्था की सराहना की। इसके अलावा नागपुर जिले के आरपी शर्मा ने मेला समिति द्वारा इस वर्ष यात्रियों की सुविधा के लिए त्रिशूल संबंधी व्यवस्था की सराहना की। नागपुर महाराष्ट्र के ही मनीष रघुवंशी ने बताया कि वे पिछली दो शिवरात्रियों से आ रहे हैं इस बार उन्हें पहले से काफी अच्छी व्यवस्थाएं देखने को मिली। छिंदवाड़ा जिला के किशोर सिलधरिया खाद्य सामग्री की दुकान लेकर चौरागढ़ मेले में आए हैं। उन्होंने बताया कि इस दुर्गम मार्ग वाले तीर्थ स्थल पर प्रशासन द्वारा जगह-जगह पर जो चिकित्सा सुविधा केन्द्र स्थापित किए है उनसे यात्रियों को काफी राहत मिल रही है। इसी तरह मुलताई के उमेश शर्मा, यवतमाल के अशोक राव, चन्द्रपुर के संदीप धुर्वे, नागपुर के गुलाब राव, यवतमाल के ही अनिल यादव, पाण्डुना के महेन्द्र जैन, छिन्दवाड़ा की संगीता खातरकर एवं भोपाल के पंकज श्रीवास्तव, ने विद्युत, पेयजल, सफाई, स्वास्थ्य, उचित मूल्य पर दुकानों में खाद्य सामग्री की उपलब्धता आदि की सराहना की है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: