2 दर्जन से अधिक लोग मलेरिया से पीड़ित

प्रमोद गुप्ता /प्रकाश सराटे

प्रमोद गुप्ता /प्रकाश सराटे
सारणी/रानीपुर। रानीपुर के अंतर्गत आने वाले जुआरी गांव के पटेलढाना में मौसमी बीमारी का कहर चरम सीमा पर पहुंच गया है। गांव के 2 दर्जन से अधिक लोग सर दर्द, बुखार, शरीर में ऐठन और मलेरिया जैसी बीमारी से पीड़ित है। उसके बाद भी स्वास्थ्य महकमे को इसकी जानकारी नहीं लग पाई है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्यकर्मी, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता किस तरह का कार्य करते होंगे।
दो हजार मकान की बस्ती और गांव में सन्नाटा
जुआरी गांव में लगभग दो हजार से अधिक मकान है जिसमें से 20 से 25 मकान के परिवार के लोगों में मौसमी बीमारी फैल जाने के कारण गांव में सन्नाटा छाया हुआ है। ऐसा प्रतीक होता है जैसे गांव में धारा 144 लग गई है कोई भी व्यक्ति घर से बाहर निकलने को तैयार नहीं। ग्रामीणों की माने तो ऐसा कोई घर नहीं है जिस घर में बुखार सर्दी खांसी और मलेरिया से पीड़ित मरीज ना हो। रानीपुर उप स्वास्थ्य केंद्र के आला अधिकारियों को इसकी जानकारी होने के बाद भी गांव में भ्रमण करने की ज़हमत नहीं उठा रहे हैं। इससे भी आश्चर्य की तो बात यह है कि गांव के स्वास्थ्य कर्मी और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को इसकी जानकारी होने के बाद भी उच्च अधिकारी को किसी भी तरह की सूचना नहीं दी जा रही है। जिसकी वजह से गांव में और भी ज्यादा महामारी फैलने की स्थिति उत्पन्न हो गई है।
इस संबंध में घोड़ाडोंगरी के खंड चिकित्सा अधिकारी संजू शर्मा को अनेक बार उनके दूरभाष पर फोन लगाया गया लेकिन उन्होंने रविवार होने की वजह से फोन नहीं उठाया है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW