नशा मुक्ति अभियान: सिगरेट, बीड़ी पीने से 25 प्रतिशत हृदयाघात

नशा मुक्ति अभियान: सिगरेट, बीड़ी पीने से 25 प्रतिशत हृदयाघात

होशंगाबाद। शासकीय गृहविज्ञान महाविद्यालय(Government Home Science College) में प्राचार्य डॉ. कामिनी जैन(Dr. Kamini Jain) के निर्देशन में एनएसएस(NSS) ईकाई 01 की प्रभारी डॉ. ज्योति जुनगरे एवं एनएसएस ईकाई 02 की प्रभारी डॉ. हर्षा चचाने के नेतृत्व में एनएसएस की स्वयंसेविकाओं द्वारा नशा मुक्ति अभियान(De-addiction campaign) के तहत पंपलेट का वितरण किया गया। जिसमें छात्राओं द्वारा स्थानीय बाजार में फल एवं सब्जी विक्रेताओं को बताया गया कि तम्बाकू, गुटका, पाउच, स्वास्थ्य के लिए अत्यंत हानिकारक है, अतः इसके प्रयोग से बचना चाहिए। हर 5 व्यक्ति की मृत्यु में 1 की मृत्यु का कारण तम्बाकू है। सिगरेट बीडी पीने से 25 प्रतिशत हृदय घात, 30 प्रतिशत केंसर तथा 25 प्रतिशत अस्थमा आदि रोग हो जाते है।

छत्राओं ने कहा कि हम संकल्प के साथ नशा मुक्ति की ओर बढे। छात्राओं ने नशा नही करने का संकल्प दिलाया एवं सभी से निवेदन किया कि अपना अमूल्य समय देकर इस बुराई से छुटकारा दिलाने में हमारा सहयोग करे।

इस अवसर पर ईशा अहिरवार, कोमल कैथवास, गीता पटैल, भारती चैधरी, आरती पटैल, शिखा पटैल, मनीषा चौधरी, तनवीर मलैया, संगीता चौधरी, सुषमा सराठे, शैलेन्द्र ईवने आदि उपस्थित रहे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: