रेलवे को जमीन देने वाले 74 किसान परिवारों को मिलेगी नौकरी

रेलवे को जमीन देने वाले 74 किसान परिवारों को मिलेगी नौकरी

पश्चिम मध्य रेलवे कार्मिक विभाग ने जारी किए आदेश
रंग लाई सांसद राव उदयप्रताप सिंह की पहल,

इटारसी। रेलवे की पवारखेड़ा-जुझारपुर(Pawarkheda-Jujharpur Railways) तक नई बड़ी रेल लाइन परियोजना में अपनी जमीन देने वाले 74 किसानों के परिवारों(Farmer Family) का एक सदस्य जल्द ही रेलकर्मी(Railway Employee) बनेगा।

16 मई 2019 को नोटिफिकेशन(Notification) जारी होने के बावजूद भर्ती प्रकिया अटकी हुई थी, इस मामले में सांसद राव उदय प्रताप सिंह(MP Rao Uday Pratap Singh) ने रेलवे बोर्ड चेयरमैन(Railway board chairman) एवं पश्चिम मध्य रेलवे(West central railway) के महाप्रबंधक को दो बार पत्र लिखे थे।

उन्होंने सीधी एवं छिंदवाड़ा जिले में भर्ती प्रकिया पूरी होेने का हवाला दिया था, इस पर संज्ञान लेते हुए 20 अगस्त को महाप्रबंधक कार्यालय कार्मिक शाखा के आरआरसी चेयरमेन अजय कुमार दीक्षित(RRC Chairman Ajay Kumar Dixit) ने भर्ती प्रकिया पूरी करने के आदेश जारी किए हैं। भोपाल डीआरएम(Bhopal DRM) को भेजे पत्र में कहा गया है कि जल्द ही जमीन देने वाले किसानों के परिवारों से प्राप्त आवेदकों की भर्ती प्रकिया पूरी कराई जाए।

सांसद प्रतिनिधि राजा तिवारी ने बताया कि साल 2013 में रेलवे ने परियोजना में जमीन अधिग्रहित कर ली थी, मुआवजा राशि तो मिली, लेकिन परिवार के एक सदस्य को रेलवे में नौकरी देने की कार्रवाई लंबित थी, लगातार किसान आंदोलन की चेतावनी दे रहे थे, इस पर उन्होंने सांसद महोदय से बात की और तत्काल पत्र जारी होने से कार्रवाई हुई। ग्राम देहरी, गौंची तरोंदा, ब्यावरा, बोरतलाई, रैसलपुर के किसान गोकुल पटेल, अजय मेहरा, विनीत मोदी, हरिओम चौधरी, राघवेन्द्र झलिया ने कहा कि दो साल से हम नौकरी के लिए संघर्ष कर रहे थे, सांसद महोदय के प्रयासों से आदेश जारी हो गए हैं, अब परिवार के एक सदस्य को नौकरी मिलने से परिवार को सहारा मिलेगा। सांसद सिंह ने बताया कि जल्द ही डीआरएम कार्यालय से भर्ती प्रकिया पूरी होगी, चूंकि आवेदकों के सारे दस्तावेजों की जांच हो चुकी है, जल्द ही इन्हें नियुक्ति पत्र मिलेंगे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: