Skin Tips: सर्दियों में ड्राय स्किन से हैं प्रॉब्लम्स परेशान तो जरूर लें पानी की भाप

Skin Tips: सर्दियों में ड्राय स्किन से हैं प्रॉब्लम्स परेशान तो जरूर लें पानी की भाप

इटारसी। सर्दियों (Winter) में कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स (Health Problems) बढ़ने लगती हैं। खासकर सर्दी-जुकाम और ड्राय स्किन (Dry Skin) की प्रॉब्लम्स परेशान करती हैं। लेकिन इन्हें हम सिंपल गर्म भाप के जरिए दूर कर सकते हैं। अगर हम रोज या हफ्ते में 3 बार गर्म भाप लेते हैं तो सर्दी की कई हेल्थ प्रॉब्लम्स से हम पहले ही बचाव कर सकते हैं।

भाप कैसे करती है असर

गर्म पानी की भाप नाक के जरिए हमारी बॉडी में जाकर गर्मी पैदा करती है और खराब बैक्टीरिया खत्म करती है, जिससे कफ या सर्दी जैसी प्रॉब्लम्स दूर होती हैं। साथ ही जब गर्म भाप हमारी स्किन पर पड़ती है तो इससे स्किन के पोर्स खुलते हैं और स्किन की गंदगी बाहर निकलती है। ऐसे में स्किन हेल्दी होती है।

क्या है भाप लेने का सही तरीका 

अगर आपके पास भाप लेने वाली मशीन नहीं है तो एक बर्तन में 3 या 4 गिलास पानी डालकर ढ़ंक दें। इसे 5 से 8 मिनट तक गर्म होने दें। इसके बाद सिर पर एक कॉटन का टॉवेल ओढ़ लें और बर्तन का ढ़क्कन हटाकर 5 से 10 मिनट तक भाप लें। ऐसा हफ्ते में 3 या 4 बार कर सकते हैं.

सर्दियों में भांप लेने के फायदे

सर्दी जुकाम से बचाव – सर्दी में रोज गर्म भांप लेने से सर्दी-जुकाम और कफ की प्रॉब्लम दूर होती है

ड्राई स्किन को बनाये सॉफ्ट – सर्दी में भांप लेने से ड्राई स्किन की प्रॉब्लम दूर होती है

अस्थमा की प्रॉब्लम करें दूर – रेगुलर भाप लेने से सांस लेने की तकलीफ दूर होती है इससे अस्थमा की प्रॉब्लम कंट्रोल होती है

ग्लो बढ़ाये – चेहरे पर हफ्ते में 3 या 4 बार गर्म भाप लेने से डेड सेल्स ख़त्म होती हिया और चेहरा ग्लो करता है

पिंपल्स दूर करे – हफ्ते में 3 या 4 बार भाप लेने से स्किन की गंदगी दूर होती है इससे पिंपल्स की प्रॉब्लम कंट्रोल होती है

ब्लैक हेड्स मिटाए – हफ्ते में 3 बार चेहरे पर 5 से 10 मिनट तक भाप दें और फिर स्क्रब करें इससे ब्लैक हेड्स की प्तोब्लेम दूर होगी

बैक्टीरिया दूर करें – भाप लेने से स्किन की गंदगी साफ़ होती है इससे स्किन के बैक्टीरिया ख़त्म होते है

झुरियां कम करें – भांप देने से स्किन में नमी आती है और डेड सेल्स होती है इससे झुरियां की प्रॉब्लम दूर होती है

 

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: