Category: Sahitya

बहुरंग – जगत जननी माँ…

Poonam Soni- 17/10/2021

विनोद कुशवाहा नवरात्रि में जगत जननी माँ का स्मरण किया जा रहा था। उनकी पूजा, अर्चना, आराधना की जा रही थी। ऐसे में मुझे अपनी ... Read More

कलेक्टर किस्सा गोई: एक साहब बहादुर ऐसे भी…

Poonam Soni- 12/10/2021

झरोखा: पंकज पटेरिया। नर्मदापुरम होशंगाबाद के एक बेहद सीनियर हमारे साथी पत्रकार हो गये है, कीर्ति शेष भाई कल्याण जैन। (more…) Read More

असत्य के प्रतिकार की कामना है विजयादशमी

Poonam Soni- 11/10/2021

प्रसंग-वश: चंद्रकांत अग्रवाल: अपने एक मुक्तक से आज के कॉलम का आग़ाज़ कर रहा हूँ, भीतर का तम हटाना चाहिये, मन मन्दिर में राम बसाना ... Read More

बहुरंग: तोल मोल के बोल

Poonam Soni- 10/10/2021

विनोद कुशवाहा सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एन वी रमना ने छत्तीसगढ़ के निलंबित एडीजी गुरजिंदर की याचिका पर सुनवाई करते हुए (more…) Read More

बहुरंग: पत्रकार फोकट क्लास के नहीं हैं

Poonam Soni- 03/10/2021

और अंत में... इटारसी में खुले मेडिकल कॉलेज विनोद कुशवाहा इन दिनों देश की राजनीति में भूचाल आया हुआ है । खेल भी इससे अछूता ... Read More

समीक्षा: कहानी संग्रह: पीली रोशनी का समंदर- विपिन पवार

Poonam Soni- 03/10/2021

देवेन्द्र सोनी:  जब भी साहित्य की या लेखन की बात होती है तो सर्वमान्य रूप से जेहन में जो दो प्रमुख विधाएं उभरती हैं वह ... Read More

अलंकार स्मृति प्रसंग पर काव्य गोष्ठी आयोजित

Rohit- 30/09/2021

 - शब्द खो रहे हैं मूल अर्थ : डॉ व्यास सोहागपुर। आज के समय में शब्द अपने मूल अर्थ होते जा रहे हैं। पहले संप्रदाय ... Read More

सियासी बाग में अनुमानों के आम फलेंगे क्या…

Manjuraj Thakur- 28/09/2021

झरोखा - पंकज पटेरिया : फलों के राजा आम का मौसम बाय बाय कर गया, लेकिन सियासी बाग मे अनुमानों के आम का मौसम सदाबहार ... Read More

बहुरंग : मेरे शहर का रंगमंच

Manjuraj Thakur- 26/09/2021

- विनोद कुशवाहा :   मेरे शहर इटारसी का रंगमंच बहुत समृद्ध रहा है । यहां न केवल नाटकों का प्रदर्शन किया गया बल्कि नुक्कड़ ... Read More

मनुष्य और पानी : ढेकली से सबमर्सिबल तक

Manjuraj Thakur- 26/09/2021

- बाबूलाल दाहिया, पद्मश्री : पानी के बिना किसी जीवधारी (Man and Water) की कल्पना ही नहीं की जा सकती। यह अलग बात है कि ... Read More

error: Content is protected !!