Breaking News

देशज 2016 : कुछ पल हमारी सांस्कृतिक विरासत के संग

देशज 2016 : कुछ पल हमारी सांस्कृतिक विरासत के संग

देशज़ 2016। जो लंबे दिन तक स्मृति पटल से विस्मृत नहीं किया जा सकता। देशभर के 20 राज्यों की पारंपरिक, समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को इस शहर के संस्कृति प्रेमियों ने देखा, सराहा और अपनी यादों में संजोया भी। संगीत एवं नाटक अकादमी ने देशभर में अनेकानेक कार्यक्रम किए होंगे, लेकिन ईंट और रस्सी के इस शहर में हुआ आयोजन कई मायनों में उनके लिए भी भिन्न था और शहर के लिए भी। एसएनए को जितने दर्शक इस शहर में मिले, उतने पहले नहीं मिले जो संस्था के अधिकारियों ने भी स्वीकारा। इटारसी के लिए मायनेखेज़ इसलिए कि शहर में यह ऐसा पहला सांस्कृतिक आयोजन था जिसने दशहरे के बाद सबसे अधिक दर्शकों को जुटाया। पहले भी इस शहर की सांस्कृतिक धरोहर के तौर पर आयोजन हुए हैं, लेकिन इतने अधिक और अनुशासित दर्शक पहली बार जुटे। वर्ग कोई नहीं था। उच्च, मध्यम और निम्न वर्ग। सबसे परे केवल सांस्कृतिक कार्यक्रमों को परखने वाले जोहरी थे, सब। इस बात को वजन देने के लिए एक ही उदाहरण काफी है, कि लोग ठंड के बावजूद अंतिम कार्यक्रम के अंतिम पल तक अपनी जगह से नहीं हटते थे। दर्शक यहां टाइम पास करने नहीं आते थे, वरना कुछ-कुछ देर में आते-जाते रहते।
देशज 2016 के माध्यम से देश की विविधता में एकता का सूत्र भी बंधा था। एसएनए ने देश की विविध लोक एवं पारंपरिक सांस्कृतिक अभिव्यक्तियों को एक मंच पर लाकर पहली बार इस शहर को देश की सांस्कृतिक विरासत से रूबरू कराया। देश के विविध क्षेत्रों की सांस्कृतिक विशिष्टताओं से परिचय भी प्राप्त किया तो देश के विभिन्न अंचलों की कलाओं के प्रति उत्सुकता एवं जागरुकता इस शहर ने दिखाई।
देशज के माध्यम से भारतीय लोक संगीत, नृत्य एवं नाट्य से जनसाधारण, खास तौर से युवा पीढ़ी को रू-ब-रू होने का एक बेहतरीन मौका मिला है। इस तरह भारतीय कलाओं के लोकपक्ष के प्रति एक सकारात्मक और रचनात्मक समझ विकसित होती है। देशज 2016 के सफल आयोजन में संगीत नाटक अकादमी को शहर का धन्यवाद तो मिलना ही चाहिए, नगर पालिका परिषद इटारसी और उन सबों को जिन्होंने इस आयोजन में अपने वक्त और गरिमामयी उपस्थिति से इसे ऊंचाईयों पर पहुंचाने में अपना योगदान दिया। देशज 2016 के कुछ पल हमने भी अपने पाठकों के लिए संजोए हैं, जो चित्र के माध्यम से हम प्रस्तुत कर रहे हैं। उम्मीद है, आपकी देशज स्मृति को ताज़ा बनाए रखने में ये सहायक हो सकेंगे।

देशज 2016 के सारे चित्रों को आप फोटो गैलरी में देख पायेंगे।

deshaz-111 deshaz-110 deshaz-106 deshaz-103 deshaz-98 deshaz-89 deshaz-77 deshaz-70 deshaz-62 deshaz-53 deshaz-47 deshaz-41 deshaz-39 deshaz-36 deshaz-31 deshaz-13 deshaz-6

error: Content is protected !!