Breaking News

आजकल तो रिंगटोन भी भजनों की बन गई है : अनूप जलोटा

आजकल तो रिंगटोन भी भजनों की बन गई है : अनूप जलोटा

भोपाल। जब भी कहीं भजन की बात की जाती है तो बरबस ही अनूप जलोटा का नाम जुबां पर आ जाता है। हिंदी साहित्य के इतिहास में नजर डालें तो मीरा के भजन, कबीर के भजन सामने आते हैं। वर्तमान में कहीं भी भजन संध्या हो तो केवल अनूप जलोटा के भजनों की प्रस्तुति नजर आती है। ऐसे में जब अनूप जलोटा स्वयं ही भजनों की प्रस्तुति देने आ जाएं तो भक्ति संगीत के अथाह सागर में डुबकियां लगाने का हर किसी का मन करेगा। ऐसा ही पल भोपाल वासियों को मिला जब भजन सम्राट पद्मश्री अनूप जलोटा भोपाल उत्सव मेला में आयोजित भजन संध्या में शिरकत करने आए। इस अवसर पर हमारे सांस्कृतिक प्रतिनिधि सुनील सोन्हिया ने उनसे बातचीत की।
बातचीत के प्रमुख अंश…
आपको यह नहीं लगता कि लोगों का भक्ति गीतों से मोह कम हो रहा है ?
नहीं ऐसा नहीं है, अगर ऐसा हो रहा होता तो आज यह भजन संध्या नहीं हो रही होती। अब तो 14-15 धार्मिक चैनल भी चल रहे हैं, जिनमें लगातार भक्ति संगीत बरसता रहता है। और तो और आजकल तो मोबाइल की रिंगटोन भी भजनों के बन गए हैं।
आजकल के गानों में वह मिठास नहीं है जो पहले हुआ करती थी इस बारे में आपकी क्या राय है ?
मुझे तो ऐसा कुछ भी नहीं लगता। गाने आज भी मधुर हंै, सिर्फ टेस्ट का अंतर है। आजकल के युवा जिस तरह का संगीत चाहते हैं उन्हें वह दिया जा रहा है। पुराने लोगों का सवाल तो वह अपनी पसंद के गीत सुन ही रहे हैं।
सुना है आप कोई विशेष भक्ति एल्बम निकालने जा रहे हैं ?
हां, मैं एक विशेष एल्बम निकालने जा रहा हूं। भागवत गीता को उर्दू में रिकॉर्ड कर रहा हूं।
संगीत के साथ आप अभिनय भी करने जा रहे हैं ?
हां, भाई हाल ही में ओरछा में फिल्म मंदाकिनी की शूटिंग हुई जिसमें मुझ पर एक गीत फिल्माया गया है। इसके अलावा आने वाली फिल्म हैप्पी सिंह, साईं बाबा में भी अभिनय कर रहा हूं।
म्यूजिक रियलिटी शोज के बारे में आपकी क्या राय क्या राय है ?
संगीत के क्षेत्र में नई-नई प्रतिभाओं को मंच प्रदान करने हेतु रियलिटी शोज एक सशक्त माध्यम है। मैंने और रामदेव बाबा ने मिलकर एक म्यूजिक रियलिटी शोज ओम शांति ओम शुरू किया है।
नए गायकों में किसे प्रतिभावान मानते हैं ?
अरिजीत सिंह, जावेद अली और अंकित तिवारी अच्छे गायक हैं।
अनूप जलोटा के उल्लेखनीय एल्बम ?
भक्ति संगीत, भजन गंगा, कबीर वाणी भजनंजली, जय सियाराम प्रमुख हैं। उल्लेखनीय है, अनूप जलोटा ने 10 फिल्मों में भी गीत गाए जिनमें मालिक एक, सौगंध, शिर्डी के साईं बाबा, जिंदगी इसी का नाम प्रमुख हैं।

error: Content is protected !!