Breaking News

गर्ल्स् कॉलेज, आंवली घाट बनेगा धार्मिक पर्यटन केन्द्र

गर्ल्स् कॉलेज, आंवली घाट बनेगा धार्मिक पर्यटन केन्द्र

शिवजी की प्रतिमा का किया अनावरण
सिवनी मालवा। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज जिले के सिवनीमालवा के आंवली घाट में पूजा अर्चन कर भगवान शंकर की ७१ फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया तथा आंवली घाट में नवनिर्मित रेस्टहाउस का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि आंवली घाट को धार्मिक पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हर की पौडी की तर्ज पर इसका विकास किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने डोलरिया की बालिकाओं की मांग पर कन्या महाविद्यालय जुलाई से खोलने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सिवनीमालवा में कन्या महाविद्यालय खोलने के लिए सकारात्मक पहल की जाएगी। मुख्यमंत्री ने आंवली घाट में कन्याओं का पूजन किया। लोधा-लोधी समाज की ओर से उन्हें ६१ किलो की माला पहनाई। भारतीय किसान मोर्चा के किसानों एवं सहकारी बैंक के पदाधिकारियों ने भी उनका स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि आंवली घाट में जो विकास के कार्य दिखाई दे रहे हैं उसके पीछे विधायक सरताज सिंह की प्रेरणा कार्य कर रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि होशंगाबाद में १० से १२ ग्रामों में ओलावृष्टि से फसल बरबाद हुई है। उसकी भरपाई किसानों को की जाएगी क्योंकि फसल खराब होने से किसान की फसल की बरबादी तो होती ही है साथ ही किसान की जिंदगी भी प्रभावित होती है।

श्री चौहान ने कहा कि हम खेती को लाभ का धंधा बनाना चाहते हैं एवं किसान को उसकी फसल का वाजिब दाम दिलाना चाहते हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि भावांतर भुगतान योजना में सुधार की जरूरत है, इसमें सुधार किया जाएगा। अब किसान को अपनी उपज एक साथ मंडी में लाने की जरूरत नहीं है। वे ४ माह तक अपनी फसल वेयर हाउस में सुरक्षित रख सकते हैं। वेयर हाउस में किसान की जो फसल रखी जाएगी उसका किराया सरकार देगी। बैंकों से टाईअप कर ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि वेयर हाउस में यदि किसान की फसल रखी है तो उसे तत्काल राहत देते हुए २५ प्रतिशत तक की राशि मिल जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि डिफॉल्टर किसानों को भी एक अवसर दिया जाएगा। डिफॉल्टर किसानों के ब्याज हम देंगे। डिफॉल्टर किसान अपना मूलधन २ किश्तों में चुकाएं। यदि किसान अपना १० हजार रूपए का कर्ज चुकाता है तो उसे शून्य प्रतिशत पर पुन: १५ हजार रूपए की राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि इस वर्ष से गेहूं प्रति धक्वटल २ हजार रूपए में बेचा जाएगा। उन्होंने कहा कि वे भारत में किसानों के हित में काम करने के मामले में इतिहास रच देंगे।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आंवली घाट में पत्थर लगाने स्टीमेट बना लिया जाए। उन्होंने भगवान शंकर की महिमा का वर्णन करते हुए कहा कि भगवान शंकर बहुत जल्द प्रसन्न हो जाने वाले भगवान हैं, जिसे दुनिया ठुकराती है उसे भोले शंकर अपनाते हैं। समुद्र मंथन से निकले कालकूट विष का उन्होंने पान किया और नीलकंठ कहलाए। सांसद राव उदय प्रताप सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री से बेहतर कोई भी मप्र की जनता के लिए कार्य नहीं कर सकता है। उन्होंने किसानों की चिंता दूर करने का प्रयास किया है। प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री ने सिद्ध किया है कि विकास के आधार पर भी जनता के वोट मिल सकते हैं। विधायक सरताज सिंह ने स्वागत भाषण में कहा कि इस शहर की सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता कन्या महाविद्यालय की है। सिवनीमालवा में एक ही महाविद्यालय है, स्थान छोटा होने सेे बच्चो की पढ़ाई प्रभावित होती है। उन्होंने कहा कि आंवली घाट का एक स्थान गहराई लिए हुए है। वहां कांक्रीट एवं सरिया डाला गया है। पत्थर लगाना जरूरी है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री से ३ करोड़ रूपए की राशि की मांग की। श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री ने किसानों के चेहरे पर रौनक ला दी है। जितनी योजनाएं मप्र से शुरू हुई हैं उतनी योजनाएं किसी अन्य प्रांत में नहीं हैं। इसलिए दूसरे राज्य के लोग आकर म.प्र. की योजनाओं के बारे में जानना चाहते हैं। कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल, सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह, पिपरिया विधायक ठाकुर दास नागवंशी, टिमरनी विधायक संजय शाह, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिव चौबे, राज्य अंत्योदय समिति के सदस्य हरिशंकर जयसवाल सहित जनप्रतिनिधि, आम नागरिक मौजूद थे।

error: Content is protected !!