Breaking News

विद्यार्थी स्वयं मूल्यांकन करें – कमिश्नर

विद्यार्थी स्वयं मूल्यांकन करें – कमिश्नर

होशंगाबाद। नर्मदापुरम् संभाग के 100 विद्यार्थियों ने जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई किया है जिनमें आदिवासी विभाग द्वारा संचालित बैतूल के 54, होशंगाबाद के 21 विद्याथी शामिल हैं। इसके अलावा शिक्षा विभाग के स्कूल बैतूल के 16, होशंगाबाद के 1 एवं हरदा से 8 विद्यार्थी शामिल हैं। कमिश्नर ने उन विद्यार्थियों से आज रूबरू चर्चा की।
उल्लेखनीय है कि यह विद्यार्थी अब जेईई एडवांस परीक्षा में बैठेंगे, परीक्षा 20 मई को होगी। क्वालिफाई करने वाले विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की तैयारी हेतु संभागीय ज्ञानोदय विद्यालय में 2 परीक्षा केन्द्र निर्धारित किए हैं। होशंगाबाद एवं हरदा जिले के विद्यार्थियों को ज्ञानोदय आवासीय विद्यालय में विशेष अध्ययन कराया जा रहा है ताकि यह विद्यार्थी जेईई एडवांस परीक्षा पास कर सकें। विद्यार्थियों के लिए आवास, भोजन एवं अध्यापन की व्यवस्था नि:शुल्क रहेगी। कमिश्नर उमाकांत उमराव ने विद्यार्थियों से रूबरू चर्चा की और उन्हें समझाइश दी कि विद्यार्थी स्वयं अपना मूल्यांकन कर तय करें कि उसे क्या पढऩा और क्या छोडऩा हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को समझाइश दी कि उनके पास जेईई एडवांस परीक्षा में बैठने के लिए मात्र 15 दिन शेष बचे हैं, विद्यार्थियों और शिक्षको को मिलकर तय करना हैं कि हर साल इन परीक्षाओं में कौन से प्रश्न सर्वाधिक आते हैं और बार-बार आते हैं। विशेष तौर पर उस टॉपिक को देखना हैं जो हर बार आते हैं। सभी विद्यार्थी उस टॉपिक एवं प्रश्नों पर ध्यान केन्द्रित करें। साथ ही यह देखें कि जो प्रश्न उनसे नहीं बनते हैं उन प्रश्नों को वे छोड़ दें। उन प्रश्नों को हल करने में अपना समय व्यर्थ ना करें। विद्यार्थी तय ना करें कि हमें 360 में से 360 नम्बर लाने हैं बल्कि वह यह तय करें कि हम कितना सम्मानजनक स्कोर ला सकते हैं।
डिप्टी कमिश्नर आदिवासी विकास जेपी यादव ने बताया कि 2013 में एक भी विद्यार्थी जेईई में नहीं गया, आज आदिवासी विभाग द्वारा संचालित स्कूलों के 500 बच्चों ने जेईई में क्वालिफाई किया है। नर्मदापुरम् संभाग के 100 विद्यार्थियों ने जेईई में क्वालिफाई किया है। अगले वर्ष लगभग 150 से 200 विद्यार्थियों का लक्ष्य है। कार्यक्रम में उपसंचालक शिक्षा वंदना दुबे, सहायक संचालक भरत शर्मा, विषय वार शिक्षक गण एवं विद्यार्थी मौजूद थे।

error: Content is protected !!