Breaking News

सड़क पर शव रखकर ढाई घंटे चक्काजाम

सड़क पर शव रखकर ढाई घंटे चक्काजाम

एक्सीडेंट के आरोपी जीप चालक तक पहुंची पुलिस
इटारसी। सनखेड़ा रोड पर सोमवार को दोपहर में हुए एक्सीडेंट के बाद आज मृतक बच्चे के परिजनों ने करीब पांच सौ ग्रामीणों के साथ गांव के बाहर रास्ता रोककर जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने आरोपी जीप चालक की गिरफ्तारी की मांग लेकर सड़क पर शव रखकर चक्काजाम किया। इस दौरान गुर्रा-सनखेड़ा के बीच किसी वाहन को नहीं निकलने दिया। इस मामले में रामपुर थाना प्रभारी आम्रपाली दहाट का कहना है कि हम प्रयास कर रहे हैं, जल्द ही आरोपी की गिरफ्तारी की जाएगी।
सूचना के बाद एसडीएम आरएस बघेल, थाना प्रभारी आम्रपाली दहाट, भाजपा नेता बहादुर चौधरी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझाईश देकर बच्चे के अंतिम संस्कार करने को कहा। करीब सुबह 7 बजे के पहले ही ग्रामीणों ने सड़क पर खंभे रखकर, कंटीली झाडिय़ां रखकर रास्ता रोक दिया था। मौके पर सबसे पहले भाजपा नेता बहादुर चौधरी पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों को सूचना की। सूचना के पहुंचने के बाद पहुंचे एसडीएम और रामपुर थाना प्रभारी ने ग्रामीणों को समझाईश दी। ग्रामीण आरोपी की गिरफ्तारी से कम किसी समझौते के मूड में नहीं थे। आखिरकार पुलिस ने आरोपी के घर पहुंचकर उसके परिजनों को साथ लेकर आयी, तब कहीं जाकर आंदोलनकारी ढाई घंटे के प्रयास के बाद माने।
उल्लेखनीय है कि सोमवार को दोपहर ग्राम मरोड़ा के एक बुलेरो कार चालक ने एक स्कूटी को टक्कर मार दी थी जिसमें सनखेड़ा के 12 वर्षीय बालक कपिल खरे की मौत हो गयी थी और राजेश मौर्य घायल हो गया था। तेज रफ्तार बोलेरो जीप क्रमांक एमपी 04-सीएम 1468 का चालक घटना के बाद भाग निकला। लंबा समय बीतने पर घटना के आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने से गुस्साए ग्रामीणों ने आज सुबह छह से सात बजे के बीच रोड पर शव रखकर चक्काजाम शुरू कर दिया।
इस दौरान कपिल के पिता देवीदास खरे, चाचा मनोज खरे, चिमन, मदन, जमना के साथ उसकी मां, दादी सहित अन्य रिश्तेदारों ने करीब पांच सौ ग्रामीणों के साथ मिलकर आरोपी की गिरफ्तारी की मांग करते हुए रोड रोका और किसी को नहीं निकलने दिया। ग्रामीणों ने पुलिस पर लापरवाही करने के आरोप लगाए। ग्रामीणों का कहना था कि वे रात में भी रामपुर थाने पहुंचे थे, लेकिन उनसे पुलिस ने ठीक से बात नहीं की और कहा कि इटारसी में मर्ग कायम है, वहां से डायरी आने के बाद ही हम कुछ करेंगे। रातभर परिजन नाराज रहे और सुबह छह बजे के बाद रोड पर आ गए और चक्काजाम कर दिया।

error: Content is protected !!