Breaking News

जीवन की अंतिम सांस तक मां नर्मदा की सेवा करेंगे : सीएम

जीवन की अंतिम सांस तक मां नर्मदा की सेवा करेंगे : सीएम
सीवरेज ट्रिटमेंट प्लान्ट एवं स्ट्राम वाटर ड्रेन का भूमि पूजन किया

होशंगाबाद। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वे पर्यावरण को बचाने एवं वृक्षारोपण करने तैयार रहेंगे। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के संतुलन को स्थापित करने के लिए वृक्ष आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम मां नर्मदा की सेवा जीवन की अंतिम सांस तक करेंगे, मां नर्मदा राजनीति का विषय नहीं है अपितु मां नर्मदा हमारे लिए श्रद्धा, आस्था एवं भक्ति का विषय है। नर्मदा के दायें तट एवं बायें तट पर पर्यावरण की दृष्टि से वे प्रदूषित ना हों इस हेतु इस वर्ष भी 15 जुलाई से 15 अगस्त तक पूरे एक माह तक नर्मदा के केचमेंट एरिया पर तथा प्रदेश की 313 नदियों के किनारे केचमेंट एरिया में पौधरोपण किए जाएंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज होशंगाबाद के हर्बल पार्क में नमामि देवी नर्मदे नर्मदा सेवा यात्रा की प्रथम वर्षगांठ पर नर्मदा परिवार, नर्मदा सेवा मिशन के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज 15 मई को नर्मदा सेवा यात्रा के एक वर्ष पूरे हो गए हैं इस बीच इस यात्रा को लेकर कई तरह की बातें कही गईं। कई प्रकार के लांछन लगाए इससे मन व्यथित हुआ लेकिन मां नर्मदा की सेवा हम हर हाल में करेंगे। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को बधाई दी जिन्होंने पौधों एवं रिपेरियन जोन की फोटो गैलरी लगाई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2 जुलाई को लगाए पौधे सरवाई कर रहे हैं।
हमने यह सुनिश्चित किया है कि मां नर्मदा की गोद में मल मूत्र एवं सीवेज का पानी न जाए इस हेतु सीवेज ट्रिटमेंट प्लांट का कार्य शुरू कराया है, नर्मदा के 20 तटों पर 1377 करोड़ रुपए स्वीकृत किए हैं, 8 नगरीय निकायों पर सीवेज टी्रटमेंट प्लांट का कार्य शुरू हो गया है और आज होशंगाबाद में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का भूमिपूजन किया है। 25 मई को टेंडर हो जाएगा और कार्य शुरू हो जाएगा। मां नर्मदा में गंदगी नहीं जाने देंगे, सीवेज के पानी को शुद्ध कर किसानों के खेतों में ले जाया जाएगा। बाबई के मुहासा में एसकेपी प्लांट लगाए जाएंगे।नगरीय निकायों द्वारा घाटों पर 249 शौचालय निर्माण का कार्य शुरू किया है तथा ग्रामीण क्षेत्र में 29 हजार 500 शौचालय बनाए हैं। नर्मदा के किनारे के 110 गांव में चैंजिंग रूम एवं शौचालय का कार्य शुरू किया है। घाटों पर कचरा एकत्र करने 285 कचरा पेटी एवं वाहन दे रहे हैं। सॉलिड बैस की स्थापना के लिए होशंगाबाद एवं देवास में कलस्टर की स्वीकृत दी है, शीघ्र ही कार्य प्रारंभ होगा। सांसद राव उदय प्रताप सिंह ने गैस पर आधारित शवदाह गृह के लिए सांसद निधि से राशि स्वीकृत की है। 235 ग्राम पंचायतों में जैव विविधता समिति बनाई है। नर्मदा के केचमेंट एरिया में जल्द ही तालाब निर्माण का कार्य भी शुरू होगा इसके लिए राशि स्वीकृत की गई है। मेढ़ बंधान के कार्य भी किए जाएंगे, मेढ़ बंधान से पानी रिस-रिस कर मां नर्मदा में पहुंचेगा। 2227 गांवों में बायोगैस संयंत्र स्वीकृत किए  हैं। नर्मदा के दांये तट पर 40 एवं बांये तट पर 42 रैन बसेरों के लिए 41 करोड़ 40 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की है। नर्मदा के किनारे 2 हजार 448 सोलर पंप स्थापित किए गए हैं। उद्योगों का प्रदूषित पानी नर्मदा में ना जाए इस हेतु रिवर्स आश्वासिक प्लांट के लिए प्रयास किए हैं। समाज को जागरूक कर नशे के प्रचलन को समाप्त करेंगे। नर्मदा किनारे के 68 शराब दुकानों को बंद कर दिया है। नर्मदा के तट की रेत खदान की नीलामी नहीं की है। खदान की देख-रेख ग्राम पंचायत करेगी। ग्राम पंचायत ही इसमें अनुमति देकर रॉयल्टी वसूल करेगी। अवैध रेत परिवहन करने वाले 178 वाहनों को राजसात किया है। जनता को जरूरत के मुताबिक रेत मिले यह भी ग्राम पंचायत सुनिश्चित करें। नर्मदा के किनारे के 130 मंजरे टोलों में विद्युतीकरण  किया है। 100 पूजन कुंड एवं विसर्जन कुंड बनाए हैं, जैविक खेती के लिए कृषकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। होशंगाबाद में सुशील बहन एवं उनकी जैसी अनेक महिलाएं हफ्ते में कुछ दिन निकालकर मां नर्मदा के सफाई अभियान में अपना सहयोग देती हैं। ऐसी महिलाओं का सम्मान एवं अभिनंदन करना चाहिए।
 मुख्यमंत्री ने बताया कि 70 प्रतिशत अंक लाने वाले विद्यार्थियों की फीस शासन वहन करेगी। श्रमिक का इलाज नि:शुल्क कराया जाएगा। उन्हें फ्लेट रेट पर 200 रुपए प्रति माह की दर से बिजली उपलब्ध कराई जाएगी। गरीब महिला को प्रसव के दौरान 6 हजार रूपए की राशि एवं प्रसव के बाद 12 हजार रुपए की राशि दी जाएगी ताकि इस राशि से महिला पौष्टिक भोजन ग्रहण कर सके। यदि श्रमिक की मृत्यु 60 वर्ष से पहले हो जाती है तो 2 लाख रूपए की राशि तथा दुर्घटना पर मृत्यु होने पर 4 लाख रूपए की राशि उसके परिजनों को दी जाएगी। होशंगाबाद जिले में 3 लाख असंगठित श्रमिकों का पंजीयन किया है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रिपेरियन जोन पर आधारित फोटो गैलरी का अवलोकन किया तथा छात्र तनिष्क सैनी द्वारा बनाए सीवेज ट्रीटमेंट प्लान्ट के मॉडल की सराहना की। नगर पालिका परिषद द्वारा नर्मदा सेवा मिशन अंतर्गत स्वीकृत सीवेज परियोजना के तहत बनने वाले सीवेज वाटर ट्रीटमेंट प्लांट एवं अमृत योजनांतर्गत स्ट्राम वाटर ड्रेन का भूमि पूजन किया। शहर के बैंक कॉलोनी, संजय नगर एवं भीलपुरा में एक वर्ष के अंदर नालों का निर्माण किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा सेवा मिशन का एक वर्ष नाम की पुस्तक का विमोचन किया।  आंवली घाट से आई हुई गौरा बाई एवं उनके दल की महिलाओं ने मुख्यमंत्री के स्वागत में गीत प्रस्तुत किया। जन अभियान के प्रदीप पांडे, राघवेन्द्र गौतम एवं डीके पांडे ने मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह प्रदान किया। नगर पालिका के अध्यक्ष अखिलेश खण्डेलवाल ने आभार प्रदर्शन किया।
इस अवसर पर विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा,  प्रभारी मंत्री जालम सिंह पटेल, सांसद राव उदय प्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल, सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह, पिपरिया विधायक ठाकुर दास नागवंशी, सिवनी मालवा विधायक सरताज सिंह, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिव चौबे, राज्य अंत्योदय समिति के सदस्य हरिशंकर जयसवाल, जनपद पंचायत अध्यक्ष संगीता सोलंकी सहित जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

पोस्ट ऑफिस घाट पर किया श्रमदान
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने होशंगाबाद शहर के पोस्ट ऑफिस घाट पहुंचकर यहां जारी सौंदर्यीकरण के कार्य में श्रमदान किया। उन्होंने घाट की सीढिय़ों पर पुताई की तथा दीवारों पर बच्चों एवं कलाकारों द्वारा की जा रही चित्रकारी में सहभागिता की। उन्होंने दीवार पर ब्राश से नमामि देवी नर्मदे की आकृति उकेरी। इसके पश्चात मुख्यमंत्री श्री चौहान ने घाट पर बरगद एवं पीपल के पौधे लगाये। घाट को साफ-सुथरा रखने के उद्देश्य से नगर पालिका द्वारा डस्टबिन लगाये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने घाट पर डस्टबिन स्थापित किया।
error: Content is protected !!