Breaking News

खुलासा : करीब ७ लाख के माल सहित तीन आरोपी गिरफ्तार

खुलासा : करीब ७ लाख के माल सहित तीन आरोपी गिरफ्तार

इटारसी। रनिंग ट्रेन में उनका टारगेट तय होता था, जब ट्रेन धीमी होती थी तो ये लक्ष्य साधते थे और आउटर पर माल उड़ाकर भाग जाते थे। बैग लेकर भागना, यात्री का पर्स छीनकर भागना, महिला के गले से चेन या हाथ से पर्स छीनकर भागना जैसी वारदात करने पर तीन आरोपियों को जीआरपी ने गिरफ्तार किया है। सबसे पहले अनीस हाथ आया और फिर अनीस से दो अन्य साकिब और सोनू उर्फ कोला। इनसे १५ वारदातों का ६ लाख ८६ हजार ५ सौ के मोबाइल और ज्वेलरी तथा कुछ नगदी बरामद की है।
आज भोपाल से पुलिस अधीक्षक रेल मनोज कुमार राय से यहां इनकी गिरफ्तारी और अन्य जानकारी मीडिया से शेयर की।
तीनों बदमाश पुराने रिकार्डशुदा हैं जो २०१३ से इस प्रकार के अपराध में लिप्त हैं। इनमें से एक भिंड और दो नाला मोहल्ला निवासी हैं। तीनों की उम्र १८ से २२ वर्ष है। इनसे ३ लाख ५४ हजार के मोबाइल, २ लाख ७० हजार के जेवर और करीब ६२ हजार रुपए की नगद रकम जब्त की है। इन सब वारदातों का मास्टर माइंड अनीस है।


इन वारदात का माल बरामद

• १५ दिसंबर १७ कर्नल राकेश पिता जगदीशचंद्र शर्मा ५६ वर्ष निवासी हैद्राबाद के दो मोबाइल चोरी हुए थे। ये भिंड के कृपाल सिंह और आकाश राणा को बेचे थे। दोनों मोबाइल बरामद, आरोपी गिरफ्तार हो गए।
• २९ अप्रैल १८ को मो. रफूज निवासी झांसी उप्र का लेडीज पर्स जिसमें मोबाइल और नगद २ हजार रुपए थे।
• २२ मई १८ को फरजाना शेख पति अब्बू शेख निवासी मुंबई के गले से सोने की चेन खिड़की से हाथ डालकर छीन ली थी।
• ५ मार्च १८ को श्रीमती मैथिल निवासी जबलपुर का हैंड बैग चोरी हुआ था जिसमें १८ हजार रुपए नगद, सोने की अंगूठी, चार कार्ड, दो चश्मे, मोबाइल चार्जर थे।
• २८ मार्च १८ को बसिउल्ला निवासी संतकबीर नगर उप्र से लेडीज पर्स चोरी गया था जिसमें जेवर और नगदी १५ हजार रुपए थे।
• १४ अप्रैल १८ को पलास गुप्ता निवासी जुन्नारदेव का लेडीज पर्स चोरी गया था जिसमें जेवर, मोबाइल थे।
• २८ फरवरी १८ को ज्योति अवस्थी, निवासी मदन महल जबलपुर का पर्स चोरी गया जिसमें एक टैबलेट, सोने की चेन और १५ हजार नगद थे, चोरी हुए थे।
• २५ दिसंबर १७ को वीरपाल सिंह निवासी गाजियाबाद उप्र का आईफोन मोबाइल करीब ४६ हजार रुपए कीमत का चोरी हुआ था।
• ७ अप्रैल १८ को कंचन राठौर, निवासी वर्धा महाराष्ट्र का पर्स चोरी हुआ था जिसमें चांदी की पायल, सोने का मंगलसूत्र, पावर बैट्री, सेल्फी स्टिक थी, चोरी हो गया था।
• २ अक्टूबर १७ को काशिफ सैयद निवासी नागपुर का मोबाइल चोरी हुआ था।
• १६ मई १८ को केदारनाथ गर्ग, निवासी कटनी का हैंड बैग चोरी हुआ था जिसमें सोने के कान के टाप्स, नगदी २० हजार रुपए रखे थे।
• ५ दिसंबर को नूपुर अत्रे, निवासी इंदौर का पर्स चोरी हुआ था जिसमें सोने की चेन, एटीएम कार्ड और ढाई हजार नगद थे। ये माल साकिब और सोनू से बरामद किया है।
• २४ मई १८ को किशन मनसोरिया, निवासी सूरजगंज की बाइक पार्सल आफिस के पास से चोरी हुई थी जो अनीस ने चोरी करके बीना में रखा था।
ये सारी चोरियां करना अनीस ने कबूला है तथा कंचन राठौर की चोरी में अनीस के साथ साकिब उर्फ गुज्जर एवं सोनू उर्फ कोला का भी हाथ है। केदारनाथ गर्ग की चोरी में साकिब और सोनू का हाथ है।

ये थी जीआरपी की टीम
एसआरपी मनोज कुमार राय के निर्देशन और थाना प्रभारी बीएस चौहान के नेतृत्व में एसआई आरएल उईके, प्रज्ञा शर्मा, एएसआई श्रीलाल, आरडी तेकाम, प्रीतम सिंह, प्रधान आरक्षक रतनलाल, कमलेश बलवीर, आरक्षक संतोष पटैल, विष्णु मूर्ति, अमित तोमर, केके यादव, दिलीप सेन, राहुल यादव, विनोद भारती, सुमित यादव, संदीप जगदेव, बलवान, राजेन्द्र सिंह, सुधीर, लक्ष्मीनारायण, अभिषेक, कमलेश एवं साइबर सेल भोपाल के ललित, अनिल, मुकेश शुक्ला, रविकांत शर्मा और अनुराग की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

ये हैं आरोपी
अनीस उर्फ जस्सी पिता सलामत खान, २० वर्ष, मूल निवासी गोहद भिंड, हाल निवासी फकीर मोहल्ला इटारसी।
साकिब उर्फ गुज्जर पिता बंटी शाह २२ वर्ष, निवासी ग्वाल बाबा इटारसी,
सोनू उर्फ कोला पिता गुंटू शाह १८ वर्ष, निवासी ग्वालबाबा के पास नाला मोहल्ला।

error: Content is protected !!