Breaking News

आधी रात दो दर्जन डंफरों में लगाई आग, छावनी बना गूजरवाड़ा

आधी रात दो दर्जन डंफरों में लगाई आग, छावनी बना गूजरवाड़ा

पूर्व सरपंच के भतीजे को डंपर ने कुचला
होशंगाबाद। बाबई के ग्राम गूजरवाड़ा में सड़क हादसे में कल रात हुई युवक की मौत के बाद परिजनों ने आज बाबई-आंखमऊ चौराहे पर शव रखकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में पीडि़त परिवार के साथ बड़ी संख्या में ग्रामीण भी शामिल थे। मौके पर विधायक विजय पाल सिंह के साथ एसपी अरविंद सक्सेना के निर्देशन में भारी पुलिस बल भी तैनात रहा। ग्रामीण घटना के दोषियों पर गिरफ्तारी, कार्रवाई और डंपरों की रफ्तार पर नियंत्रण की मांग कर रहे थे।
गौरतलब है कि गूजरवाड़ा गांव और कीरपुरा के बीच बुधवार रात रेत से भरे एक तेज रफ्तार डंपर ने पूर्व सरपंच देवनारायण यादव के भतीजे को कुचल दिया था जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद भड़के ग्रामीणों ने उस डंपर को तो आग के हवाले किया साथ ही वहां से गुजर रहे करीब दो दर्जन डंपरों में भी आग लगा दी। सूचना मिलने के बाद बचाव के लिए पहुंची पुलिस पर भी पथराव कर दिया। पुलिसकर्मी अपनी जीप मौके पर ही छोड़कर भाग खड़े हुए। सूचना पर एसपी अरविंद सक्सेना ने एएसपी को पुलिस बल के साथ मौके पर रवाना किया। रात साढ़े 11 बजे तक ग्रामीणों का उत्पात चला।

पुलिस के अनुसार कि घटना रात करीब साढ़े नौ बजे की है। गूजरवाड़ा निवासी किसान कृष्णकुमार पिता रामनारायण यादव 22 अपने कर्मचारी शिवप्रसाद यादव के साथ बाइक से घर लौट रहा था। रास्ते में गलत दिशा से आ रहे डंपर ने बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर से शिवप्रसाद दूर गिरा और कृष्ण कुमार डंपर की चपेट में आ गया। घटना में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर गांव के लोग बड़ी संख्या में पहुंच गए। डंपर में तोडफ़ोड़ कर आग लगा दी। इस दौरान डंपर चालक भाग निकला। ग्रामीणों ने उक्त डंपर को जलाया साथ ही अन्य दो दर्जन डंपरों को आग के हवाले कर दिया। सारे डंपरों के चालक भी मौके से भाग खड़े हुए।
सूचना पर बाबई पुलिस पहुंची तो उसके वाहन में भी तोडफ़ोड़ कर दी। पुलिस जवानों ने भागकर जान बचाई। एएसपी राकेश खाखा पुलिस जवानों और ब्रज वाहन को लेकर मौके पर पहुंचे। देर रात बमुश्किल उग्र भीड़ पर काबू पाया जा सका। सूत्र बताते हैं कि आसपास के मानागांव, कोटगांव, आंखमऊ गांव के यादव समाज के लोग भारी संख्या में पहुंच गए थे।

error: Content is protected !!