Breaking News

12 स्थानों पर प्लांट स्थापित हो रहा है

12 स्थानों पर प्लांट स्थापित हो रहा है

कहा मुख्य सचिव ने 
होशंगाबाद.
म.प्र.वेयर हाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेशन द्वारा जिले में गेहूँ उपार्जन का आधुनिक तकनीकी से भंडारण करने के लिए जिले के बाबई विकासखंड के ग्राम आरी में सायलो बैग परिसर का मुख्य सचिव श्री आर.परशुराम ने औचक निरीक्षण किया. उन्होंने संपूर्ण परिसर का निरीक्षण कर सायलो बैग तकनीक की संपूर्ण जानकारी ली तथा गेहूँ से भरी ट्राली का सायलो बैग में भंडारण प्रक्रिया का मौके पर अवलोकन किया. मुख्य सचिव के साथ ए.सी.एस.एंटीडिसा (खाद्य विभाग), नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध संचालक श्री चंन्द्रहास दुबे भी उपस्थित थे. इस अवसर पर आयुक्त श्री अरूण तिवारी, आईजी श्री अजय शर्मा, कलेक्टर श्री राहुल जैन, एसपी श्री आई.पी.अरजरिया, डीआईजी श्री संसवाल, एसडीएम श्री राजेश शाही, लोक निर्माण विभाग के श्री पंकज शर्मा, नागरिक आपूर्ति, मार्कफेड के अधिकारी सहित सभी संबंधित अधिकारी मौजूद थे.
इस अवसर पर कलेक्टर श्री राहुल जैन द्वारा अनुमानित भंडारण ट्राली के प्रवेश और निकास आदि की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि सायलो बैग में 8 समितियों में पंजीकृत लगभग 6 हजार किसानों से 92 हजार मेट्रिक टन गेहूँ का अनुमानित उपार्जन किया जाएगा. बताया गया कि आरी फार्म पर स्थापित सायलो बैग में वर्तमान में सेवा सहकारी समिति बागलखेड़ी के पंजीकृत 590 किसानो में से 46 किसानो, सेवा सहकारी समिति बागलखड़ी बीकोर (उपकेन्द्र) के पंजीकृत 637 किसानों में से 7, सेवा सहकारी समिति सांगाखेड़ाकलां में पंजीकृत 840 किसानो में से 9, सेवा सहकारी समिति सिरवाड में पंजीकृत 636 किसानों में से 35, सेवा सहकारी समिति आंचलखेड़ा में पंजीकृत 1212 किसानों में से 15, वृहताकार सेवा सहकारी समिति बाबई बाबई मंडी में पंजीकृत 798 किसानो में से 18 किसानो द्वारा अपना गेहूँ लेकर आ चुके है .
मुख्य सचिव ने निरीक्षण के बाद गेहूँ भंडारण की आधुनिक तकनीक की प्रशंसा की तथा मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए कहा कि इस तकनीक की शुरूआत इस जिले से ही शुरू हुई है. यह तकनीक गेहूँ भंडारण के क्षेत्र में अभूतपूर्व बदलाव लायेगी. इस तकनीक से न केबल गेहूँ की गुणवत्ता को लंबे समय तक बरकरार रखा जा सकेगा बल्कि सुरक्षित भंडारण भी हो सकेगा. देश द्वारा निर्यात किये जा रहे गेहूँ में मध्यप्रदेश द्वारा उपार्जित किये गये गेहूँ का उपायोग किया जा रहा है क्योकि गुणवत्ता में प्रदेश का गेहूँ अग्रणी है. मुख्य सचिव ने कहा कि प्रदेश में 12 स्थानों पर सायलो बैग प्लांट स्थापित किये जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!