Breaking News

नहीं सुधरी कानून व्यवस्था तो निकलेगी जनआक्रोश रैली

नहीं सुधरी कानून व्यवस्था तो निकलेगी जनआक्रोश रैली

इटारसी। शहर में सोशल मीडिया ग्रुप संचालित करने वाली अपनी इटारसी ग्रुप के दर्जनों सदस्यों ने शनिवार को शहर में बढ़ते हुए अपराधों को लेकर एक बैठक का आयोजन किया। बैठक में उपस्थित अपनी इटारसी ग्रुप के अनेक सदस्यों ने अपने-अपने विचार रखते हुए निर्णय लिया कि यदि शीघ्र ही पुलिस प्रशासन द्वारा बढ़ते हुए अपराधों पर लगाम नहीं कसी तो अपनी इटारसी सोशल मीडिया ग्रुप पुलिस प्रशासन के खिलाफ शहर की जनता के सहयोग से मौन जन आक्रोश रैली निकालेगी।
बैठक में ग्रुप के सदस्यों ने तय किया कि मंगलवार 14 अगस्त को लगभग एक दर्जन ग्रुप के सदस्य होशंगाबाद पहुंचेंगे और जिला कलेक्टर के साथ ही जिला पुलिस अधीक्षक से इटारसी आने को लेकर समय निश्चित करेंगे। दोनों ही अधिकारी जिस दिन इटारसी आने की स्वीकृति प्रदान करेंगे उस दिन ग्रुप के सदस्यों के साथ ही शहर के कई अन्य गणमान्य नागरिक जयस्तंभ चौक पर उपस्थित होंगे और उसके बाद रैली की शक्ल में अधिकारियों द्वारा निर्धारित स्थान पर पहुंचकर उन्हें शहर में बढ़ते हुए अपराधों के खिलाफ ज्ञापन सौंपेंगे। यदि इसके बाद भी शहर की बिगड़ती हुई कानून व्यवस्था दुरुस्त नहीं हुई फिर अपनी इटारसी सोशल मीडिया ग्रुप के बैनर तले मौन जनाक्रोश रैली निकाली जाएगी।

कौन है अपनी इटारसी
शहर के जाने माने समाजसेवियों का एक सोशल मीडिया ग्रुप है जिसका नाम अपनी इटारसी है। जिसमें हर तबके के लोग शामिल हैं। अपनी इटारसी के बैनर तले 4 मार्च 2016 से यह ग्रुप प्रतिदिन शहर में रोटी बैंक का संचालन करता है। इसके साथ ही समय-समय पर शहर के अनेक क्षेत्रों में पौधरोपण के कार्य ग्रुप के द्वारा कराए गए हैं। इसके साथ ही लगभग तीन वर्ष पूर्व पुलिस थाने के नजदीक ओवर ब्रिज के नीचे गुलफशां हत्याकांड के बाद ग्रुप के बैनर तले हजारों लोगों ने एकत्रित होकर शहर की सड़कों पर मार्च निकालते हुए शहर की बेटी गुलफशां के हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग की थी, जिसके बाद तत्कालीन पुलिस अधीक्षक आशुतोष प्रताप सिंह ने रेस्ट हाउस पहुंचकर ग्रुप के सदस्यों से ज्ञापन लिया था जिसके नतीजे के रूप में अगले ही दिन गुलफशां हत्याकांड के आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े थे।
इसी प्रकार लगभग ढाई वर्ष पूर्व सुमति कुलकर्णी ताई हत्याकांड के बाद अपनी इटारसी के बैनर तले श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया था। उस वक्त भी पूर्व उप पुलिस अधीक्षक शशांक गर्ग ने मौके पर पहुंचकर ग्रुप के सदस्यों से ज्ञापन प्राप्त किया था और अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तार कर लिया गया था। अब यदि शीघ्र ही शहर में बढ़ते हुए अपराधों को नहीं रोका गया तो एक बार फिर अपनी इटारसी को शहर की सड़कों पर निकलना पड़ेगा।

error: Content is protected !!