राजेश राजपूत हत्याकांड : तीन और आरोपी पकड़े

हरदा। जिले में राजेश हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मामले में 3 फरार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। घटना में मृतक की पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति को मौत के घाट उतार दिया। जानकारी के अनुसार 12-13 अक्टबर की रात में शिक्षक कालोनी में रहने वाले राजेश राजपूत पिता रामराज राजपूत की हत्या मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी सहित कुल पांच आरोपी बनाए हैं। दो आरोपी पूर्व से न्यायालय के आदेश से जिला जेल हरदा में बंद हंै। उसी मामले के तीन आरोपी गोलू उर्फ रामकृष्ण शर्मा एवं छोटू बघेल मातमोर से पप्पू उर्फ पवन गिरी फरार थे जिनको पुलिस ने इंदौर के मुसाखेड़ी से गिरफ्तार कर न्यायालय पेश कर 3 दिन का पुलिस रिमांड लिया है। पूछताछ के दौरान गोलू शर्मा ने बताया कि मृतक के कागजात एवं पैसों का बैग उठाकर घर से ले गए थे जो प्रकाश जाट ने अपन भाई अक्कू उर्फ आकाश को यह बोल कर दिया कि पैसे निकाल कर रख लेना और बैग व कागजात को रफा-दफा कर देना। इस आधार पर अक्कू उर्फ आकाश को हिरासत में लेकर पूछताछ की जिसने जुर्म स्वीकार किया। मेमो के आधार पर नगदी 10000 एवं मृतक का बैग व कागजात, एटीएम चेक बुक, पासबुक नहर के पास गड्ढे में छुपा कर रखे थे, जिन्हें बरामद कर जब्त कर धारा 201 के अंतर्गत साक्ष्य को छुपाना एवं आरोपियों का सहयोग करना पाने से अपराध धारा सदर में गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया। प्रकाश ने पूर्व में बताया था मृतक की पत्नी मनीषा उर्फ मनु से विगत 2 वर्षों से उसका प्रेम प्रसंग था जिसके चलते राजेश से तलाक के संबंध में दबाव बनाया था। तलाक नहीं देने से प्रकाश के तीनों साथियों के साथ मिलकर उसकी धारदार हथियार से गला काटकर हत्या करना स्वीकार किया। हत्याकांड के खुलासे में हरदा थाना प्रभारी सुभाष दरश्यामकर, उपनिरीक्षक ओ पी यादव, सउनि मनोज दुबे, प्रधान आरक्षक रामभोग शर्मा, आरक्षक मनोज रघुवंशी, सजन सिंह, आरक्षक परमजीत, आरक्षक तुषार धनगर, आरक्षक प्रवीण एवं सायबर सेल से शारदा तिवारी, आरक्षक संजय यादव का विशेष योगदान रहा।

CATEGORIES
Share This
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: