‘अनाहत’ का किया विमोचन

इटारसी। श्री विपिन जोशी की परम्परा के गीतकार स्वर्गीय श्री चाँदमल ‘ चाँद ‘ पर एकाग्र ‘ संकल्प ‘ की प्रस्तुति साहित्यिक पत्रिका ‘ अनाहत ‘ का विमोचन – समारोह विगत् दिनों स्थानीय ईश्वर रेस्टोरेंट में आयोजित किया गया । साहित्यिक , सांस्कृतिक व सामाजिक संस्था ‘ संकल्प ‘ तथा युवा पत्र लेखक मंच के संयुक्त त-त्वाधान में आयोजित कार्यक्रम शासकीय महात्मा गांधी स्मृति महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. प्रमोद पगारे के मुख्य आतिथ्य एवं शासकीय कन्या महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. श्रीमती कुमकुम जैन की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ । इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में वरिष्ठ गीतकार श्रीमती दीपाली शर्मा तथा स्वर्गीय श्री चाँदमल ‘ चाँद ‘ के सुपुत्र श्री शैलेन्द्र जैन समारोह में विशेष रूप से उपस्थित थे । अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती के समक्ष द्वीप प्रज्जवलन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। तत्पश्चात नर्मदांचल के वरिष्ठ साहित्यकार श्री नर्मदाप्रसाद गुप्त , कथाकार श्री संतोष मालवीय ‘ प्रेमी ‘ , समाजसेवी श्री बी के नन्दवानी, पूर्व सी एम ओ तथा जिला हॉकी संघ के अध्यक्ष श्री सुरेश दुबे को दो मिनिट का मौन रखकर विनम्र श्रद्धांजलि दी गई। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए युवा पत्र लेखक मंच के अध्यक्ष राजेश दुबे ने स्वागत उद् बोधन दिया । इसके बाद संस्था के पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने आमंत्रित अतिथियों का भावभीना स्वागत् किया। स्वागत् को विराम देते हुए ‘ संकल्प ‘ की प्रस्तुति साहित्यिक पत्रिका ‘ अनाहत ‘ का अतिथियों द्वारा विमोचन किया गया । उद्बोधन की श्रृंखला में एस सी जोशी , रामवल्लभ गुप्त , मोहन झलिया , डॉ. श्रीराम निवारिया , अशोक दीक्षित , मनीष ठाकुर , सतीश पाराशर , मदन बड़कुर ‘ तन्हाई ‘ , राजेश गुप्ता आदि ने स्वर्गीय चाँदमल ‘ चाँद ‘ का पुण्य स्मरण किया ।
मोहन झलिया तथा मनीष ठाकुर ने अपने उद् बोधन में श्री चाँद द्वारा शुरू किए गए कवि सम्मेलन ‘ रसरंग ‘ की परम्परा को पुन : प्रारम्भ किये जाने पर जोर दिया । श्री चाँदमल ‘ चाँद ‘ के सुपुत्र शैलेन्द्र जैन ने ‘ युवा पत्र लेखक मंच ‘ व ‘ संकल्प ‘ के प्रति आभार व्यक्त करते हुए ‘ रसरंग ‘ फिर शुरू किए जाने पर हर्ष व्यक्त किया।उन्होंने अपनी तरफ से हरसंभव सहयोग का आश्वासन भी दिया। समारोह की विशिष्ट अतिथि श्रीमती दीपाली शर्मा ने ‘ चाँद साहब ‘ को याद करते हुए ‘ रसरंग ‘ के पुनः प्रारम्भ किये जाने के प्रयास को उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि बताया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ श्री प्रमोद पगारे ने समारोह को संबोधित करते हुए होशंगाबाद की ‘ परिमल ‘ संस्था से अपने जुड़ाव को रेखांकित किया । उन्होंने श्रोताओं को जानकारी देते उन्हें अवगत कराया कि उनके महाविद्यालय में साहित्यिक पत्रिकायें छात्रों को पढ़ने के लिये हमेशा उपलब्ध रहती हैं। डॉ श्रीमती कुमकुम जैन ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में बताया कि उनके महाविद्यालय में साहित्यिक गतिविधियां निरन्तर आयोजित होती रहती हैं। विमोचन – समारोह का सफल संचालन ‘ संकल्प ‘ संस्था के अध्यक्ष तथा साहित्यिक पत्रिका ‘ अनाहत ‘ के संपादक विनोद कुशवाहा ने किया। संस्था के संगठन सचिव श्री आलोक शुक्ल ‘ अनूप ‘ ने चाँद साहब को समर्पित गीत के साथ आभार – प्रदर्शन किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में सर्वश्री राकेश गौर , विकास उपाध्याय , मनोज गुलबांके , भगवान दास अहिरवार , आलोक शुक्ल की उल्लेखनीय भूमिका रही। समारोह में सर्वश्री जी पी दीक्षित, महेश रावत, अशोक सराफ, अजय चौकसे, राजकुमार दुबे, अकबर खान, डॉ गायत्री राय, स्वप्निल छेनिया, स्वर्णलता छेनिया, विनय चौरे, अविनेश चन्द्रवंशी, राजेश व्यास, अनिल सेन आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।

CATEGORIES
Share This
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: