उम्मीद है, रामलला टाट में नहीं मंदिर में बैठेंगे : कम्प्यूटर बाबा

इटारसी। अयोध्या मामले में सुनवाई पूरी होने के बाद हमें उम्मीद है कि फैसला हमारे पक्ष में ही आएगा और रामलला अब टाट में नहीं राम मंदिर में बैठेंगे। यह बात नदी न्यास आयोग के अध्यक्ष राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त नामदेवदास त्यागी कम्प्यूटर बाबा ने यहां रेस्ट हाउस में मीडिया से चर्चा करते हुए कही। अवैध रेत उत्खनन पर उन्होंने पूर्व की शिवराज सिंह सरकार पर गंभीर आरोप लगाये।
कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि शिवराज सरकार में शिवराज सिंह चौहान के परिवार, रिश्तेदार, चहेतों ने नर्मदा से जमकर अवैध रेत उत्खनन किया। इस पर रोक कब तक लगेगी? इस सवाल पर कहा कि हमें समय दीजिए। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने संतों को कमान दी है। एकदम से तो बंद नहीं करवा पा रहे हंै। अलबत्ता कमलनाथ सरकार में अवैध रेत उत्खनन करने वालों पर सबसे अधिक कार्रवाई हुई है। आनेवाले समय में नयी रेत नीति के तहत काम होगा और यदि नहीं हुआ तो अवैध उत्खनन करने वालों की खैर नहीं होगी। उन्होंने कहा कि नर्मदा में मशीन से उत्खनन वर्जित है, यह बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
नदियों को प्रदूषण से बचाने के सवाल पर कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि हमने नर्मदा में नाव से देखा है, अभी वहां एक नाला नर्मदा में गिर रहा है। तत्काल कलेक्टर से बात करके बैठक की है और निर्देश दिये हैं कि कार्रवाई की जाए। प्रशासन तय करे कि इसे कैसे बंद किया जाए। या तो बंद करें या फिर पानी को साफ करके नर्मदा में छोड़ा जाए। प्रभारी मंत्री पीसी शर्मा से भी बात हुई है कि देखें कि नर्मदा में कहीं भी, किसी भी जिले में गंदा नाले का पानी नहीं जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि नर्मदा बचाओ के लिए हम नर्मदा युवा सेना तैयार कर रहे हैं, जो यह देखेंगे कि कहां नुकसान हो रहा है। हम नर्मदा घाटों के सौंदर्यीकरण, नर्मदा किनारे पौधरोपण, घाटों की सफाई और उसे गंदगी से बचाने जैसे अनेक काम करेंगे।
महाराष्ट्र चुनाव में संत समाज की भूमिका पर कहा कि यदि कांग्रेस चाहेगी तो पूरे देशभर से संत समाज महाराष्ट्र पहुंचेगा और जनता को जागरुक करने का काम करेगा। अब पूरा संत समाज कांग्रेस के पक्ष में काम करेगा। लेकिन, फिलहाल तो संत समाज नर्मदा बचाने के काम में लगेगा। संतों के राजनीति में हस्तक्षेप के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह सदियों से होता आया है। पहले भी राजघरानों को साधु-संतों का मार्गदर्शन प्राप्त होता था। राजा दशरथ को गुरु वशिष्ट का मार्गदर्शन होता था। अब तो साधुओं को मुख्यमंत्री तक बना दिया है और ऐसे, ऐसों को मंत्री बना दिया जो अब अपनी करतूतों से जेल में हैं।
भोपाल में लोकसभा चुनाव के दौरान यज्ञ करने के सवाल पर वे बोले, यह हमारा दायित्व बनता है कि पूजा-पाठ करके ईश्वर से कामना करें कि वह अच्छे लोगों को जिताये। हमारा काम कामना करना है, देना ईश्वर का काम है। फिर फैसला जनता के हाथ में होता है और जनता का फैसले का संत समाज भी सम्मान करता है। रेस्ट हाउस में कांग्रेस अध्यक्ष पंकज राठौर के साथ अनेक कांग्रेसियों ने कम्प्यूटर बाबा से मुलाकात की। नायब तहसीलदार ऋतु भार्गव, एसडीओपी उमेश द्विवेदी भी उनसे मिलने रेस्ट हाउस पहुंचे थे।

तिलक सिंदूर में किया पूजन
कम्प्यूटर बाबा ने इटारसी से 15 किलोमीटर दूर स्थित तिलक सिंदूर मंदिर में दर्शन करके भगवान भोलेनाथ के शिवलिंग पर फूल माला एवं सिंदूर चढ़ाया। लाल बाबा ने उनको बताया कि यह एक ऐसा शिवलिंग है जिसमें सिंदूर चढ़ाया जाता है। कंप्यूटर बाबा ने कहा है कि भगवान भोलेनाथ के मंदिर पर परिक्रमा आधी करना चाहिए। बाबा ने आधे पर परिक्रमा करके वापस लौटे। इस मौके पर आदिवासी सेवा समिति अध्यक्ष बलदेव तेकाम, सचिव जितेंद्र इवने, मंगल कुमरे, जगदीश काकोडिय़ा एवं समिति मीडिया प्रभारी विनोद बारीवा उपस्थित रहे।


कांग्रेसियों से की मुलाकात
कम्प्यूटर बाबा से नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष पंकज राठौर, ब्लॉक किसान कांग्रेस अध्यक्ष सम्राट तिवारी, देवी मालवीय, सौम्य दुबे, हिमांशु बाबू अग्रवाल, विक्रमादित्य तिवारी, भानुप्रताप सिंह भदौरिया, ब्रजेश सेंगर, प्रकाश राठौर, कृष्णगोपाल राजपूत, अजय मिश्रा टप्पू, मनीष चौधरी, सुदर्शनाचार्य महाराज, अर्जुन यादव, लिखीराम पटेल ने स्वागत कर चर्चा की। कम्प्यूटर बाबा ने इटारसी रेस्ट हाउस में कहा कि कांग्रेस चाहेगी तो देश और प्रदेश से साधू संत समाज चुनाव में उनके पक्ष में प्रचार करेगा।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: