खबर अपडेट : वार्ड 5 में मिला पॉजिटिव मरीज (Corona Positive)

खबर अपडेट : वार्ड 5 में मिला पॉजिटिव मरीज (Corona Positive)

इटारसी। अस्पताल में मशीन पर जांच की अनुमति नहीं, पुरानी इटारसी से कोरोना (Corona) का पुन: आगमन,- जानकारी मिलते ही प्रशासन ने बनाया कंटेन्मेंट जोन (Containment Zone), मरीज के परिजनों के सेंपल (Sample) भी एम्स (Aims) में लिए गये हैंअब पुरानी इटारसी से कोरोना (Corona) की वापसी हुई है। यहां के वार्ड नंबर पांच में रहने वाले एक 55 वर्षीय व्यक्ति की एम्स में हुई जांच के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona Report Positive)) आयी है। कोरोना पॉजिटिव हार्ट के मरीज (Heart patients) हैं और पहले भी उनको अटैक आ चुका है। एसडीएम सतीश राय (SDM Satish Rai, Itarsi) ने बताया कि 30 जून को मरीज एम्स भोपाल में भर्ती हुआ था और उसका कोरोना सेंपल लिया था। आज 3 जुलाई को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव (Report Positive)) आयी है। आज ही उसका बेटा भी इटारसी से एम्स गया है अपने पिता के पास। एम्स में पत्नी और कजिन का भी सेंपल लिया है।


पुरानी इटारसी निवासी निवासी व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona Report Positive)) आने के बाद एसडीएम सतीश राय (SDM Satish Rai, Itarsi) ने नायब तहसीलदार ऋतु भार्गव (Nayab Tahsildar Ritu Bhargava), विनयप्रकाश ठाकुर, एसडीओपी महेन्द्र मालवीय (SDOP Itarsi) के साथ पुरानी इटारसी के उस हिस्से का निरीक्षण किया जहां पॉजिटिव व्यक्ति का निवास स्थान है। नगर पालिका ने भी पूरे क्षेत्र में सेनेटाइजर (Sanitizer) के छिड़काव किया है। प्रशासन ने इस हिस्से को कंटेन्मेंट जोन (Containment Zone)घोषित किया है। जब तक यह कंटेन्मेंट जोन रहेगा, यहां के लोगों का शहर में आना-जाना प्रतिबंधित रहेगा। नये आदेश के अंतर्गत कंटेन्मेंट जोन (Containment Zone) का समय 15 दिन का रहेगा।


बेफिक्र हो गया है शहर
जिस दिन से लॉक डाउन( Lockdown) खुला है, यह शहर बेफिक्र हो गया है। बाजार (Bazar) में वैसी ही भीड़ है, जैसी लॉक डाउन (Lockdown) के पहले होती थी। हालात यह है कि प्रशासन की लगातार समझाईश के बावजूद न तो ज्यादातर दुकानदार मास्क (Mask) पहन रहे हैं और ना ही बाजार आने वाले ग्राहक। होशंगाबाद नगर पालिका का राजस्व विभाग बिना मास्क पहने लोगों पर जुर्माने का कार्रवाई कर रहा है, इटारसी नपा (Nagar Palika Itarsi) का राजस्व विभाग (Revenue Department ) ऐसा कुछ नहीं कर रहा। जब प्रशासन ही बेफिक्र हो गया है तो फिर आमजन भी बेफिक्र ही रहेगा। यदि नियम बनाये हैं तो उनका पालन कराना भी प्रशासन का काम है, जो नहीं किया जा रहा है। फिजिकल डिस्टेंसिंग (Physical distancing) तो जैसे लोग भूल ही गये हैं। होटलों पर न तो हलवाई मास्क लगा रहे, ना ही दास्ताने पहने जा रहे, फल-सब्जी मंडी (Sabji Mandi Itarsi) में भी बेफिक्री का आलम है। दुकानों से सेनेटाइजर (Sanitizer) गायब हो गये हैं। कुल जमा हालात यह हैं कि लॉक डाउन ( Lockdown) में जितनी एहतियात बरती गयी थी, अब उतनी ही बेफिक्री हो गयी। हालात ऐसे हैं, मानो किसी को न तो अपनी और ना ही किसी अन्य की जान की कोई फिक्र है, अस्पताल में मशीन होने के बावजूद जांच बिना प्रशासनिक अधिकारी के अनुमति नहीं हो सकती, ऐसे में कैसे पता चलेगा कि कोई कोरोना पॉजिटिव बाजार में घूम रहा है? प्रशासन भी बेफिक्र है, सब कुछ भगवान भरोसे है।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: