तवा के सभी 13 गेट खुले, बढ़ेगा नर्मदा नदी का जलस्तर, प्रशासन अलर्ट पर

तवा के सभी 13 गेट खुले, बढ़ेगा नर्मदा नदी का जलस्तर, प्रशासन अलर्ट पर

– तवा के 13 गेट खोलकर 3 लाख 09 हजार 504 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा, बारना के 8 गेट 3.75 मीटर खोल, 84427 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है, बरगी के 17 गेट 2.59 मीटर खोले, 240177 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है
इटारसी। लगातार हो रही बारिश के बाद प्रदेश के तीन प्रमुख बांधों का पानी नर्मदा में छोड़ा जा रहा है। इस सीजन में तवा, बरगी और बारना बांध के गेट दूसरी बार खोले गये हैं। वर्तमान में तवा के सभी 13 गेट 15 फीट तक खोलकर 3 लाख 9 हजार 504 क्यूसेक, बारना के 8 गेट 3.75 मीटर, 84427 क्यूसेक और बरगी बांध के 17 गेट 2.59 मीटर खोलकर 240177 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इन तीनों बांधों का पानी नर्मदा में आ रहा है जिससे नर्मदा नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। शाम 7 बजे नर्मदा नदी का जलस्तर 956.80 फीट पर चल रहा था। तवा जलाशय का जलस्तर 1164.10, बरगी का 422.40 मीटर और बारना का 348.08 मीटर था।

रात 12 बजे अलार्म लेवल पर होगी नर्मदा (Narmada)
राहत आयुक्त एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारी, आयुक्त, कलेक्टर ने सूचित किया गया है कि नर्मदा नदी के केचमेंट एरिया में पिछले 24 घंटों में भारी वर्षा हो रही है एवं आगामी 24 घंटों में भी भारी से वर्षा भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है अत: बाढ़ से संबंधित समस्त अधिकरी जिसमें अनुविभागीय अधिकारी तहसीलदार एवं सीओ जनपद सम्मिलित है जलभराव वाले क्षेत्रों मैं सर्व संबंधितों को अलर्ट करें एवं यदि निचले क्षेत्रों में जलभराव होता है तब इससे बचाव के लिए समुचित प्रयास तत्काल किए जाएं। संभावना यह व्यक्त की जा रही है की रात में 12 बजे तक नर्मदा जी का जलस्तर अलार्म लेवल पर पहुंच सकता है। अत होशंगाबाद नगर में जिन क्षेत्रों में जलभराव होता है, उन क्षेत्रों में लाइट की व्यवस्था नगर पालिका द्वारा कर ली जाए। अनुविभागीय अधिकारी होशंगाबाद एवं पुलिस प्रशासन मिलकर जिन बस्तियों को खाली कराया जाना है, उनको चिन्हअंकित करें एवं यदि रात में इन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की आवश्यकता होती है तो उन्हें रात्रि में ही सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाए। व्यवस्थापन स्थलों पर पीने के पानी की व्यवस्था रहने हेतु रजाई, गद्दे, टॉयलेट की व्यवस्था एवं कल सुबह से नाश्ते एवं खाने की व्यवस्था भी कर ली जाए। समस्त संबंधित अधिकारी पारियों में अपनी ड्यूटी बांट लें एवं कोई ना कोई जिम्मेदार अधिकारी रात भर बाढ़ कंट्रोल रूम में उपस्थित रहे जिससे आवश्यकता पडऩे पर आवश्यक कार्यवाही की जाए। कमांडेंट होमगार्ड द्वारा जिन-जिन स्थानों पर होमगार्ड के सैनिक लगाए गए हैं एवं बाढ़ से निपटने हेतु जो साधन एकत्र किए हैं उनके संबंध में भी समीक्षा करें एवं शेष बचे होमगार्डों को जिला लाइन होमगार्ड में एकत्रित करें आज रात में 10:30 बजे सेठानी घाट पर बाढ़ से संबंधित समस्त अधिकारी उपस्थित रहें जिससे रात्रि कालीन व्यवस्थाओं की समीक्षा चर्चा उपरांत की जा सके।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: