नर्मदा में अर्पित फूलों से तैयार की जा रही सुगंधित अगरबत्ती

नर्मदा में अर्पित फूलों से तैयार की जा रही सुगंधित अगरबत्ती

होशंगाबाद। जिले में स्व सहायता समूह की महिलाए मां नर्मदा नदी में अर्पित होने वाले फूलों को एकत्र कर उनसे उच्च गुणवत्ता की अगरबत्ती बना रही हैं। कलेक्टर होशंगाबाद नीरज कुमार सिंह (Collector Hoshangabad Neeraj Kumar Singh) की यह अनूठी पहल न केवल स्व सहायता समूह की महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में अहम भूमिका निभायेगी बल्कि पुण्य सलिला मां नर्मदा को निर्मल बनाएं रखने के साथ ही उन्हें अर्पित फूलों से निर्मित अगरबत्ती के उपयोग से श्रद्धालुओं की आस्था को संतुष्टि प्रदान करेगा।
बुधवार को नर्मदा महाविद्यालय होशंगाबाद (Narmada Mahavidyalaya Hoshangabad) में आयोजित स्वरोजगार सम्मेलन में प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह (Brijendra Pratap Singh) ने स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा निर्मित रेवा सुमन अगरबत्ती का विमोचन किया। इस अवसर पर सांसद उदय प्रताप सिंह (Uday Pratap Singh), विधायक होशंगाबाद डॉ सीतासरन शर्मा (Dr Sitasaran Sharma), विधायक सोहागपुर विजयपाल सिंह (Vijaypal Singh), विधायक सिवनीमालवा प्रेम शंकर वर्मा (Prem Shankar Verma), दर्शन सिंह चौधरी (Darshan Singh Choudhary), कमिश्नर नर्मदापुरम मालसिंह (Commissioner Narmadapuram Malsingh), कलेक्टर होशंगाबाद नीरज कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक डॉ गुरकरण सिंह (Superintendent of Police Dr Gurkaran Singh) सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे। यह अगरबत्ती का निर्माण ग्राम जासलपुर के रविदास और सरस्वती स्व सहायता समूह की महिलाओं के द्वारा किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि जिले में मां नर्मदा में अर्पित होने वाले पुष्पों को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की स्व सहायता समूह की महिलाओं के सहयोग से एकत्र कर फूलों से प्राप्त होने वाले अपशिष्ट को परिष्कृत कर सुगंधित अगरबत्ती निर्माण का कार्य प्रारंभ किया है। यह अगरबतियां चारकोल फ्री एवं सुगंधित रहेंगी।
वर्तमान में जो अगरबत्ती बनाई जा रही है उनमें तीन सुगंध गुलाब, मोगरा, और लेवेंडर में उपलब्ध होंगी, इन अगरबत्ती को रेवा सुमन के नाम से ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग की जा रही है जो कि प्रीमियम क्वालिटी की व आकर्षक पैकेंजिंग में उपलब्ध होंगी। नर्मदा नदी में अर्पित फूलों से बनी प्रीमियम क्वालिटी की अगरबत्ती का विक्रय एवं विपणन विभिन्न मार्केट चैनलों एवं प्रसिद्ध स्थलों पचमढ़ी और मढ़ई के होटल और लॉज, प्राकृत शोरूम, मृगनयनी एंपोरियम एवं ऑनलाइन मार्केटिंग आदि के माध्यम से कराया जाएगा। अगरबत्ती निर्माण से जुड़ी महिलाएं प्रभा कटारे (Prabha Katare) और पुष्पा कटारे (Pushpa Katare) ने बताया कि हमारे स्व सहायता समूह के माध्यम से इस पुनीत कार्य को कराया जा रहा है इससे हमें आजीविका भी प्राप्त होगी और मां नर्मदा को स्वच्छ करने का पुण्य लाभ भी मिलेगा।


CATEGORIES
TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!