आस्था का अनुपम उपासना का केंद्र बना वट वृक्ष

आस्था का अनुपम उपासना का केंद्र बना वट वृक्ष

– राजधानी से पंकज पटेरिया :
राजधानी की कटारा हिल्स की एक सुंदर स्वच्छ कालोनी में मंदिर की कमी एक बरसो पुराने बरगद के पेड़ ने पूरी कर दी। जानकारी के मुताबिक करीब दो ढाई दशक पहले क्षेत्र वनाच्छादित था आसपास लोगों के खेत थे। बाद में विकास के चलते यहां ग्लोबल पार्क सिटी नाम की एक निजी कॉलोनी में आवासों की कतार खड़ी कर दी गई। तभी स्वप्रेरणा से या किसी के कहने से यहां स्थित प्राचीन सघन वट वृक्ष को छेड़ा नही गया। अपितु लोगो ने श्रद्धावश उसे थोड़ी बाउंड्री बना करा सुरक्षित कर दिया गया। नीचे एक आंगन भी निर्मित कर दिया गया। अब धर्म प्राण श्रद्धालु की आस्था का प्रमुख केंद्र यह स्वमेव ही बन गया। वैसे भी भारतीय संस्कृति मे इसे त्रिदेव कहा जाता है। अक्षय वट बरगद मे ब्रम्हा विष्णु महेश का वास होता है। इस मान्यता के कारण श्रद्धालु जन स्त्री पुरुष पावन वृक्ष की पूजा पाठ उपासना करते और अपने इष्ट की स्तुति आदि करते। होली, दिवाली, रक्षा बंधन, जन्माष्टमी मकर संक्रांति, शिवरात्रि, नवरात्रि आदि पर्व त्यौहार पर कॉलोनीवासी आपसी सहयोग से यहां कार्यक्रम करते और भक्ति भाव से उत्सव पर मनाते हैं। हाल मे इसे गोल पाइंट बना का स्वाधीनता दिवस पर बच्चो की रेली भी निकाली गई। बगैर किसी शोर शराबा के घर घर तिरंगा अभियान के चलते यहां राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया गया।
यहां उल्लेखनीय है बरगद का पेड़ जितना धार्मिक महत्व है उतना ही वैज्ञानिक भी। पेड़ की जड़, तना, फल तीनों में औषधीय गुणों का भंडार होता है जिनका उपयोग विभिन्न व्याधियों में वैद्य जानकार लोग करते हैं। मधुमेह, बांझपन, अन्य त्वचा संबंधी रोगों में भी इस से निर्मित दवाएं उपयोग की जाते हैं।
धार्मिक कथा में उल्लेख है पतिव्रता सावित्री ने अपने पति सत्यवान के प्राणों की वापसी के लिए इसी वट वृक्ष के नीचे कठोर तपस्या की थी। तभी यमराज ने सत्यवान के प्राण वापस किये थे। एक मान्यता यह भी है इसकी शाखाएं सावित्री की पहचान है।
इसे राष्ट्रीय वृक्ष का दर्जा भी प्राप्त है। भारतीय संस्कृति में वृक्ष को देव माना गया है । लिहाजा क्षेत्र में धर्म आस्था विश्वास की इस अद्भुत प्रतीक की उपस्थिति से कभी किसी के मन में मंदिर की कमी महसूस नहीं होती। वैसे भी कहां गया है विश्वास फलदायक अर्थात जहां विश्वास है वहां फल की प्राप्ति ही होती है।
नर्मदे हर


पंकज पटेरिया
वरिष्ठ पत्रकार साहित्यकार
ज्योतिष सलाहकार, भोपाल
9340244352 ,9407505651

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!