सद्भभाव की अनूठी मिशाल है रामजी बाबा मेला – डाॅ सीतासरन शर्मा 

सद्भभाव की अनूठी मिशाल है रामजी बाबा मेला – डाॅ सीतासरन शर्मा 

नर्मदापुरम (Narmadapuram) होने पर पहली बार लग रहा रामजीबाबा मेला (Ramjibaba Mela) शहर में हर्ष की लहर
 नर्मदापुरम। संत शिरोमणी श्रीरामजीबाबा और गोरीशाह बाबा (Gorishah Baba) की याद में लगने वाला यह मेला सद्भाव की अनूठी मिशाल है। यह बात विधायक डॉ सीतासरन शर्मा ने रामजी बाबा मेला का फीता काटकर शुभारंभ करते हुए कही।
उन्होंने कहा कि शहर का नाम नर्मदापुरम नाम होने के बाद यह पहला मेला है। शहर में हर्ष का माहौल व्याप्त है। हम सब सद्भाव के साथ रहें यह मेला हमें यही संदेश देता है। उन्होंने मेला के सफल आयोजन की शुभकामनाएं दी। इस मौके पर रामजी बाबा समाधि के महंत वृंदावन दास महंत (Mahant Vrindavan Das Mahant), शहरकाजी अस्फाक अली (Shaharkaji Asfaq Ali), जनपद अध्यक्ष श्रीमती संगीता सौलंकी (Smt. Sangeeta Solanki), मेला प्रभारी एडीएम मनोज ठाकुर (ADM Manoj Thakur),  पियूष शर्मा (Piyush Sharma), राजेश तिवारी (Rajesh Tiwari),स्मारिका पटेल (Smarika Patel), मनोहर बड़ानी (Manohar Badani), नपा के कार्यपालन यंत्री आरसी शुक्ला(RC Shukl), प्रशांत जैन (Prashant Jain), शिवानदं सोनी (Shivanand Soni), इंजिनियर विष्णु यादव (Vishnu Yadav) सहित नपा के अधिकारी कर्मचारी शामिल थे। महंत वृंदावन दास ने रामजी बाबा के जीवन वृत पर प्रकाश डाला, इसके साथ ही मेला प्रभारी श्री ठाकुर ने मेला के दौरान व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुए सभी से मेला के सफल आयोजन में सहयोग की अपेक्षा की। इस अवसर पर अनेक पूर्व पार्षद व शहर के गणमान्य नागरिक, मेला में आए व्यापारी शामिल रहे। संचालन आरती शर्मा और प्रदीप मिश्रा ने किया।  मेला के शुभारंभ से पूर्व सुबह के समय रामजीबाबा समाधि से सद्भाव की चादर यात्रा निकाली गई जो गाजे बाजे के साथ शहर के प्रमुख मार्ग से ग्वालटोली स्थित गोरीशाह दाता की मजार पर श्रद्धाभाव के साथ अर्पित की गई। इस दौरान शहर के अनेक लोग उत्साह से शामिल रहे।

 

 

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!