कलश यात्रा के साथ सोनतलाई में श्री शतचंडी महायज्ञ प्रारंभ

कलश यात्रा के साथ सोनतलाई में श्री शतचंडी महायज्ञ प्रारंभ

इटारसी। चैत्र नवरात्र (Chaitra Navratri) पर श्री शतचंडी महायज्ञ (Shri Shatchandi Mahayagya) एवं श्री राम कथा प्रवचन समारोह (Shri Ram Katha discourse) तवा तट ग्राम सोनतलाई (Village Sontalai) में प्रारंभ हो गया है। इस विशाल धार्मिक आयोजन के प्रथम दिवस दोपहर 2 बजे मां कात्यायनी देवी मंदिर (Maa Katyayani Devi Temple) में समस्त ग्रामीणों ने एकत्र होकर देवी पूजन किया। कार्यक्रम संयोजक राजीव दीवान के नेतृत्व में जल कलश यात्रा प्रारंभ हुई। करीब 51 ट्रैक्टर ट्राली (Tractor Trolley) एवं सैकड़ों चार पहिया वाहन व दो पहिया वाहन के साथ हजारों ग्रामीण जन तवा नदी (Tawa River) के दुर्गम रास्ते से होते हुए मानागांव, आंखमऊ, बाबई होते हुए नर्मदा नदी के नसीराबाद घाट पर पहुंचे, जहां पतित पावनी मां नर्मदा का पूजा अर्चना कर मां नर्मदा का पावन जल कलशों में भरा गया। तत्पश्चात यहां भंडारा हुआ जिसमें नगर पंचायत बाबई ने भी सहयोग प्रदान किया। भंडारे के पश्चात यह यात्रा वापस उसी रास्ते से कार्यक्रम स्थल सोनतलाई पहुंची। यात्रा का जगह जगह ग्रामीण जनों ने स्वागत किया।
कार्यक्रम स्थल सोनतलाई में रविवार को अरणी मंथन के द्वारा श्री शतचंडी महायज्ञ प्रारंभ होगा एवं श्री राम कथा प्रवचन समारोह भी रविवार से ही प्रारंभ होंगे जिनमें संत श्री महावीर दास ब्रह्मचारी (Sant Shri Mahavir Das Brahmachari) के नेतृत्व में प्रयागराज बनारस (Prayagraj Banaras) एवं बुंदेलखंड (Bundelkhand) के विद्वान प्रवचन कर्ताओं के द्वारा श्री राम कथा रूपी मानस मंदाकिनी नर्मदांंचल (Narmadanchal) के इस तवा कछार की भूमि पर प्रवाहित की जाएगी। समस्त ग्रामीणों की ओर से कार्यक्रम संयोजक राजीव दीवान ने नर्मदा अंचल के समस्त जनमानस हवाओं से इस विराट आयोजन में भाग लेने का निवेदन किया है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!