श्री बूढ़ी माता मंदिर में श्री शतचंडी महायज्ञ शुरु, 16 को होगी पूर्णाहुति

श्री बूढ़ी माता मंदिर में श्री शतचंडी महायज्ञ शुरु, 16 को होगी पूर्णाहुति

इटारसी। कोविड (Kovid) के सारे प्रतिबंध समाप्त होने के बाद यहां श्री बूढ़ी माता मंदिर (Shri Budhi Mata Mandir) में चल रहे श्री शतचंडी महायज्ञ (Shri Shatchandi Mahayagya) में भी श्रद्धालुओं के लिए सभी प्रतिबंध खत्म कर दिया हैं। मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं से मास्क लगाकर आने का अनुरोध किया है।मंदिर समिति के सचिव जगदीश मालवीय (Secretary Jagdish Malviya) ने बताया कि इस वर्ष कोविड के कारण पांच दिन का महायज्ञ का आयोजन किया है। आज दूसरा दिन है। 16 फरवरी को श्री शतचंडी महायज्ञ की पूर्णाहुति हो जाएगी। चूंकि इस वर्ष कोविड के प्रतिबंध यज्ञ प्रारंभ होने तक खुले नहीं थे, इसलिए मेले का आयोजन नहीं किया जा सका है। अलबत्ता धार्मिक आयोजन ही हो रहे हैं। समापन दिवस 16 फरवरी को पूर्णाहुति के बाद कन्याभोज और भंडारे का आयोजन होगा। इसके अलावा शहर के प्रसिद्ध भजन गायक बसंत बतरा (Basant Batra) और उनके साथ देवी जागरण का कार्यक्रम पेश करेंगे।

उल्लेखनीय है कि श्री बूढ़ी माता मंदिर में श्री शतचंडी महायज्ञ का यह 47 वॉ वर्ष है। यहां पिछले कई वर्षों से हर वर्ष मेला भी लगता रहा है। कोविड गाइड लाइन के कारण इस वर्ष के प्रारंभ में निकलने वाली कलशयात्रा भी नहीं निकाली। सात दिन के यज्ञ को पांच दिन का किया है। लेकिन, अब पूरे प्रदेश से प्रतिबंध खत्म हो गये हैं। लेकिन, मेला लगना संभव नहीं है, अत: शेष कार्यक्रम पिछले वर्षों की तरह ही होंगे। मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं से श्री शतचंडी महायज्ञ का लाभ लेने का अनुरोध किया है। समिति ने अनुरोध किया है कि चूंकि कोरोना अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है अत: भक्त मास्क (Mask) अवश्य लगाकर आएं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!