अयोध्या में श्री राम का मंदिर सनातन संस्कृति को जीवित रखने का प्रमाण है : डॉ शर्मा

अयोध्या में श्री राम का मंदिर सनातन संस्कृति को जीवित रखने का प्रमाण है : डॉ शर्मा

इटारसी। 59 वे वर्ष में श्री राम जन्म महोत्सव (Shri Ram Janma Mahotsav) का ऐतिहासिक आयोजन श्री द्वारिकाधीश बड़ा मंदिर (Shri Dwarkadhish Bada Mandir) में 2 अप्रैल से प्रारंभ हुआ था। प्रथम चरण में गोस्वामी तुलसीदास (Goswami Tulsidas) जी द्वारा रचित श्रीरामचरितमानस (Shri Ramcharitmanas) पर प्रवचन संपन्न हुए। गुना मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बाल संत शाश्वत जी महाराज ने सात दिनों तक प्रभु श्रीराम (Prabhu Shri Ram) के चरित्र एवं व्यवहार का वर्णन किया। शुक्रवार को रात्रि में विदाई समारोह आयोजित किया एवं समिति का मुख्य समारोह संपन्न हुआ।
समिति के मुख्य संरक्षक डॉ सीतासरन शर्मा (Dr. Sitasaran Sharma) ने शाल श्रीफल से बाल संत शाश्वत जी महाराज, उनके माता पिता का सम्मान एवं अतिथि कलाकारों का भी सम्मान किया। सम्मान समारोह में समिति के संरक्षक प्रमोद पगारे, अध्यक्ष सतीश अग्रवाल सांवरिया, कार्यकारी अध्यक्ष जसवीर सिंह छाबड़ा, सचिव अशोक शर्मा, कोषाध्यक्ष प्रकाश मिश्रा मौजूद थे। विश्राम दिवस पर डॉ. शर्मा ने कहा कि श्रीराम चरितमानस व्यक्ति के जीवन में व्यवहार कैसा हो यह सिखाती है। परिवार मित्र और सगे संबंधियों के प्रति एक दूसरे की क्या जवाबदारी है यह भी हमें रामकथा से सीखने को मिलता है। बाल संत शाश्वत जी महाराज ने 7 दिनों में प्रभु श्री राम की अलौकिक कथा का अपने ज्ञान के अनुसार समाज को संदेश दिया हम उनके आभारी हैं। समिति के अध्यक्ष सतीश अग्रवाल सांवरिया ने कहा कि मुझे इस समिति से जुडऩे का सौभाग्य प्राप्त हुआ। लगभग 5 वर्षों से समिति में अध्यक्ष का दायित्व संभालते हुए समस्त समाजों का सहयोग लेते हुए आयोजन को निरंतर नया स्वरूप देने का प्रयास कर रहे हैं। संरक्षक प्रमोद पगारे ने कहा कि मुख्य संरक्षक डॉ सीतासरन शर्मा के मार्गदर्शन में समिति लंबे समय से कार्य कर रही है। प्रभु श्री राम की कथा का अविरल गायन हो रहा है। उन्होंने कार्यकारी अध्यक्ष जसवीर छाबड़ा के प्रति विशेष आभार व्यक्त किया। श्री छाबड़ा को इस वर्ष के आयोजन की संपूर्ण जवाबदारी दी गई थी और उन्होंने उसे सफलतापूर्वक पूरा किया। समिति के कार्यकारी अध्यक्ष जसवीर सिंह छाबड़ा ने कहा कि इस वर्ष समिति ने संपूर्ण जवाबदारी मुझे दी थी। मैंने पूरे प्रयास किए कि आयोजन ऐतिहासिक रूप से संपन्न हो उसमें हम सफल भी हुए। उन्होंने समस्त मीडिया कर्मियों एवं प्रवक्ता भूपेंद्र विश्वकर्मा सहित समिति के प्रबंधक दिनेश सैनी सहित दानदाताओं एवं सहयोगियों के प्रति आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर नर्मदापुरम के वरिष्ठ भाजपा नेता एवं समाजसेवी पीयूष शर्मा, वरिष्ठ उद्योगपति एवं समाजसेवी पं कैलाश शर्मा सहित जगदीश मालवीय, राजा तिवारी, अभिषेक तिवारी, बेअंत सिंह बंजारा, शैलेन्द्र दुबे, मनजीत कलोसिया सहित शहर के गणमान्य जन, धर्मप्रेमी बंधु उपस्थित रहे। सचिव अशोक शर्मा ने कहा कि यह आयोजन इस बात का प्रमाण है कि समाज इटारसी के इस प्रतिष्ठित धार्मिक आयोजन को मान्यता देता है। कोषाध्यक्ष प्रकाश मिश्रा ने इस वर्ष के आय एवं व्यय की जानकारी दी। संचालन पंडित अनिल मिश्रा ने किया।



CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!