एक ही मंच पर कव्वाली और भजनों का संगम होगा 4 जून को

एक ही मंच पर कव्वाली और भजनों का संगम होगा 4 जून को

इटारसी। नाला मोहल्ला (Nala Mohalla) स्थित हजरत सैलानी बाबा (Hazrat Sailani Baba) का 58 वॉ उस्र 4 जून शनिवार को मनाया जाएगा। इस दौरान रात 10 बजे से सैलानी बाबा की दरगाह के पास कव्वाली (Qawwali) का आयोजन होगा। साम्प्रदायिक सद्भाव की मिसाल के तौर पर होने वाले इस कार्यक्रम में एक ही मंच से कव्वाली और भजन सुनने को मिलेंगे।
कार्यक्रम में इंटरनेशनल फेम सिंगर (International Fame Singer), सूफी ब्रदर्स कव्वाल (Sufi Brothers Qawwal) उस्ताद हमसार हयात निज़ामी दिल्ली (Ustad Humsar Hayat Nizami Delhi) कव्वाली और भजन पेश करेंगे। हमसार हयात निजामी ऐसे फनकार हैं, जिन्होंने न केवल कव्वाली बल्कि भजनों में भी अपना फन दिखाया है। उनकी सुपरहिट कव्वाली ‘तेरी रहमतों का दरिया सरेआम चल रहा है,’ ‘दीवाना तेरा आया बाबा तेरी शिर्डी में’ और जय गणेश जय महादेवा, जैसे कई शानदार भजन गाये सुपरहिट रहे हैं। वे 4 जून को एक ही स्टेज से कव्वाली और भजन की प्रस्तुतियां देंगे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!